Divya Himachal Logo Sep 22nd, 2017

वीरभद्र-सुक्खू की तकरार भारी

कौल बोले, निर्णायक वक्त पर घमासान पार्टी के लिए सही नहीं

NEWSकुल्लू— स्वास्थ्य मंत्री कौल सिंह ने कहा है कि मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह और संगठन के अध्यक्ष सुखविंदर सुक्खू की आपसी तकरार विधानसभा चुनावों में पार्टी पर भारी पड़ सकती है। कौल सिंह ने कुल्लू में कहा कि विधानसभा चुनाव बिलकुल पास हैं तथा यह समय बड़ा निर्णायक है। अकसर चुनावों के समय बड़े नेता भी यही करते हैं कि अगर उनके पसंदीदा प्रत्याशी को टिकट नहीं मिलता है तो वह अपने प्रत्याशी को बागी करवाकर चुनावी रण में उतार देते हैं, जिससे पार्टी को नुकसान होता है। इन दिनों स्वास्थ्य मंत्री एक ऑडियो सीडी को लेकर भी प्रदेश भर में चर्चा में हैं। उन्होंने कहा कि सीडी एक साजिश है तथा इसमें विपक्ष के लोगों के साथ-साथ कुछ कांग्रेस नेताओं का भी हाथ है। इस मामले की छानबीन चल रही है तथा वह जल्द ही दोषियों के खिलाफ मानहानि का दावा ठोंकेंगे। उन्होंने कहा कि चुनावों के ऐन मौके पर विरोधी उन्हें बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं। दं्रग विधानसभा क्षेत्र को मैंने अपने पसीने से सींचा है तथा आठ बार यहां से विधायक बना हूं और अब नौवीं बार भी यहां से धमाकेदार जीत दर्ज करूंगा।  उन्होंने भाजपा पर भी टिप्पणी करते हुए कहा कि भाजपा मात्र नरेंद्र मोदी पर ही निर्भर है। भाजपा के पास मोदी के अलावा प्रचार करने को और कुछ नहीं है। मोदी के नाम से भाजपा ने पूरे प्रदेश की दीवारों को रंग दिया है, लेकिन प्रदेश के लोग जानते हैं कि भाजपा प्रदेश का विकास नहीं करवा सकती है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य मंत्री बनने के बाद प्रदेश में हर जगह पर एक सामान विकास करवाने की कोशिश की। डाक्टरों को अब 319 किस्म की जेनेरिक दवाइयों को लिखने के आदेश भी जारी हुए हैं।

September 13th, 2017

 
 

पोल

क्या जीएस बाली हिमाचल में वीरभद्र सिंह का विकल्प हो सकते हैं?

View Results

Loading ... Loading ...
 
Lingual Support by India Fascinates