himachal pradesh news, himachal pradesh top stories, himachal pradesh tourism

जो जनता से जुड़ा रहता है उसे दिक्कत नहीं आती

दुश्वार होती सियासत पर बोले गोविंद सिंह ठाकुर

कुल्लू – बदलते परिवेश में राजनीति एक चुनौतीपूर्ण दायित्व बन गया है। राजनीति की डगर अब आसान नहीं रही। वोटर जहां शिक्षित व जागरूक हुआ है, वहीं अब राजनेताओं से लोगों की अपेक्षाएं भी बढ़ी हैं लेकिन राजनीति उन लोगों के लिए मुश्किल होती है, जो चुनावों के दौरान बरसाती मेंढक की तरह बाहर निकल आते हैं। दूसरी ओर जो सालभर जनता के साथ जुड़े रहते हैं, उन्हें कभी भी किसी तरह की मुश्किल का सामना नहीं करना पड़ता। न ही उन्हें चुनावों से पहले लोगों को किसी तरह के प्रलोभन देने की जरूरत महसूस होती है। आज हर व्यक्ति पढ़ा-लिखा है, समझदार है। वह जानता है कि किस प्रतिनिधि को चुनकर भेजना है और किसे नहीं। यह कहना है मनाली के विधायक गोविंद सिंह ठाकुर का। वह परिवार में भी राजनीतिक माहौल बचपन से ही मिलने पर समाज सेवा के कार्य में जुटे रहे। फिर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की शाखा लगाने पर जो संस्कार मिले, उन पर चलते हुए गोविंद सिंह ठाकुर समाज सेवा को ही सर्वोपरि मानते हैं। विधायक का कहना है कि वह हमेशा समाज के लिए कार्य करते रहेंगे। आज हर व्यक्ति चाहता है कि उसका नेता उसके हर सुख-दुख में साथ रहे, हर कार्य करे, लेकिन यह संभव नहीं हो पाता, पर कोशिश यही रही है कि सभी के सुख से पहले उसके दुख में जरूर पहुंच सकूं। रही किसी के कार्य को करने की बात है। अगर कोई गलत तरीके से अपने काम को करवाने की कोशिश करता है तो मैं उस व्यक्ति का साथ नहीं देता और उनके काम का करने से साफ मना कर देता हूं। कभी किसी को उनके कार्य को लेकर गुमराह नहीं करता जो काम होना है उसके लिए हां कर देता हूं, पर जो काम नहीं होना है, उसके लिए तुरंत इनकार कर देता हूं। विधायक गोविंद सिंह ठाकुर कहते हैं कि उन्हें बचपन से ही समाज सेवा करने का शौक था और आज राजनीति में आकर भी वही कार्य कर रहा हूं। मैं आज भी अपने माता-पिता के नाम से बनाई समाजसेवी संस्था के तहत जिलाभर में जरूरतमंदों की हर संभव मदद कर रहा हूं। विधायक कहते हैं कि आज भारत मोदी सरकार के कार्यकाल में आगे बढ़ा है और बढ़ रहा है। कि वह हमेशा मनाली में अधिकतर समय लोगों के बीच रहते हैं। गांव-गांव का दौरा करते हैं, ताकि उनकी समस्याओं से अवगत हो सकें और उन्हें दूर कर सकें।

वोट बैंक की कठिनाइयां

विधायक कहते हैं कि वोट बैंक को लेकर कभी कोई दिक्कत नहीं रही। सालभर हम जनता से जुड़े रहते हैं। दिक्कत उन्हें आती है, जो चुनावों के दौरान सामने आते हैं। वोटरों को रिझाने की जरूरत भी उन्हें महसूस होती है, जो सालभर जनता से कटे रहते हैं। आज प्रत्येक मतदाता विकास चाहता है, जिसके लिए वह हमेशा से ही प्रयासरत रहते हैं।

अधिकारों को पहचानें वोटर

गोविंद ठाकुर कहते हैं जनता सबसे पहले अपने अधिकारों को जानते हुए मत का जरूर प्रयोग करे। काम करने वाले जनप्रतिनिधि को चुने। क्योंकि देश का भविष्य मतदाता के हाथों टिका होता है। ऐसे में अपने वोट का प्रयोग सही व्यक्ति के लिए करना चाहिए।

You might also like
?>