himachal pradesh news, himachal pradesh top stories, himachal pradesh tourism

अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेला शुरू

प्रगति मैदान में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने किया शुभारंभ

 नई दिल्ली — राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने व्यापार को आम आदमी के हित का माध्यम बताते कहा कि देश में आर्थिक सुधारों का उद्देश्य गरीबी दूर करना और समृद्धि बढ़ना है। उन्होंने भारत के वार्षिक अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले को ‘लघु भारत’ का स्वरूप बताते हुए कहा कि इस मेले में देश की विविध संस्कृति और व्यापारिक गतिविधियों की झलक मिलती है। राष्ट्रपति ने मंगलवार को राजधानी के प्रगति मैदान में 37वें भारतीय अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले का उद्घाटन करते हुए कहा कि इस मेले से देश-विदेश के स्तर पर व्यापारिक गतिविधियों को बढ़ावा मिलता है। उन्होंने कहा कि आज दुनिया में भारत की पहचान एक आकर्षक निवेश स्थल के रूप में बनी है और भारत में व्यावसायिक परिवेश में हुए सुधार को दुनिया ने मान्यता दी है। देश में जारी आर्थिक सुधारों को महत्त्वपूर्ण बताते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि इनका मकसद देश से गरीबी दूर करना और लाखों लोगों की समृद्धि बढ़ाना है। व्यापार से आम लोगों को मदद मिलनी चाहिए, क्योंकि अंततः यह उसी पर टिका होता है। उन्होंने कहा, जीएसटी का लागू होना एक अहम उपलब्धि है, इससे राज्यों के बीच व्यापार की बाधायें समाप्त हुई हैं। इससे देश में एक साझा बाजार बना है और आर्थिक गतिविधयों को औपचारिक तंत्र में लाने में मदद मिली है।

उत्पाद प्रर्दिशत करेंगी 222 कंपनियां

राष्ट्रपति ने कहा कि देश में शुरू किए गए सुधारों और कारोबार सुगमता से प्रत्यक्ष विदेशी निवेश का आंकड़ा जो कि 2013-14 में 36 अरब डालर रहा था, वर्ष 2016-17 में बढ़कर 60 अरब डालर पर पहुंच गया। आईआईटीएफ 2017 में देश- दुनिया के 3000 से अधिक प्रदर्शक भाग ले रहे हैं। मेले में 22 देशों की 222 कंपनियां भी अपने उत्पादों और सेवाओं को प्रर्दिशत करेंगी। उद्घाटन समारोह में राष्ट्रपित की पत्नी सविता कोविंद, वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री सुरेश प्रभु, वाणिज्य एवं उद्योग राज्य मंत्री सीआर चौधरी, झारखंड के शहरी विकास एवं अवास मंत्री सीपी सिंह तथा भारत में वियतनाम और किरगिस्तान के राजदूत भी समरोह में उपस्थित थे।

You might also like
?>