himachal pradesh news, himachal pradesh top stories, himachal pradesh tourism

आज से रोहतांग बंद

कुल्लू —  समुद्र तल से 13050 फुट ऊंचा रोहतांग दर्रा 15 नवंबर से आधिकारिक तौर पर बड़े वाहनों की आवाजाही के लिए बंद होगा। लाहुल-स्पीति प्रशासन के साथ सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) ने अलर्ट जारी किया है। अब अगले छह महीने बाद ही रोहतांग से होकर वाहनों की आवाजाही होगी। इस मार्ग से अब वाहनों की आवाजाही जोखिम भरीहै। मार्ग पर पानी जमना शुरू हो गया है। और वाहन फिसलने लगे हैं। लाहुल-स्पीति प्रशासन के साथ-साथ बीआरओ ने अलर्ट जारी किया है कि अब रोहतांग से होकर आवाजाही न करें। वहीं, पुलिस विभाग भी लोगों की सहायता के लिए कोकसर और मढ़ी में बचाव चौकियां स्थापित करेगा। बता दें कि रोहतांग दर्रे समेत जिला लाहुल-स्पीति में ठंड का प्रकोप बढ़ गया है। सुबह के दौरान सड़कें जमनी शुरू हो गई हैं। ऐसे में खतरा बना हुआ है। अब लाहुल-स्पीति से लंबे रूटों पर बसें नहीं दौड़ पाएंगी। सिर्फ जिला कुल्लू से ही लाहुल-स्पीति को बसें चलेंगी। बता दें कि 15 नवंबर को अधिकारिक तौर पर रोहतांग वाहनों की आवाजाही के लिए बंद होने के साथ ही लाहुल-स्पीति हिमाचल पथ परिवहन निगम भी बसों को वहां से कुल्लू के लिए शिफ्ट कर रहा है। जानकारी के अनुसार हिमाचल पथ परिवहन निगम केलांग डिपो की कुल 83 बसों  में 56 बसें कुल्लू भेजी जा रही हैं। ये जिला कुल्लू के विभिन्न रूटों के साथ अन्य लंबे रूटों पर चलाई जाएंगी। इसके अलावा 27 बसें केलांग में भी रखी जाएंगी। प्रशासन ने लोगों से अपील की है कि वे अब रोहतांग की तरफ वाहनों में न आएं। ठंड बढ़ने से बीआरओ ने सामान समेट लिया है। अब इस एरिया में सहायता नहीं मिल सकती है। अब लाहुल-स्पीति में कभी भी बर्फबारी हो सकती है। हालांकि पिछले दिनों ऊंची चोटियों पर हल्की बर्फबारी हुई थी, जिससे घाटी शीत लहर की चपेट में आ गई है। एसपी लाहुल-स्पीति गौरव सिंह ने कहा कि बुधवार से रोहतांग दर्रा बंद हो रहा है। पुलिस विभाग कोकसर और मढ़ी में बचाव चौकियां स्थापित करेगा। उपायुक्त लाहुल-स्पीति देवा सिंह नेगी ने कहा कि अधिकारिक तौर पर 15 नवंबर को रोहतांग बडे़ वाहनों की आवाजाही के लिए बंद किया जा रहा है। अब इस मार्ग पर वाहन चलाना जोखिम भरा हो गया है। लोगों को अलर्ट किया गया है कि अब लाहुल-स्पीति की ओर न बढ़ें। बीआरओ कमांडेंट कर्नल एके अवस्थी ने कहा कि सभी वाहनों की आवाजाही बंद करने के लिए लोगों से अपील की गई है। बीआरओ ने अपना सामान समेट लिया है।

You might also like
?>