himachal pradesh news, himachal pradesh top stories, himachal pradesh tourism

आतंक के खिलाफ मिलाएं हाथ

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा; भारत ने झेला काफी नुकसान, संघर्ष में संयुक्त प्रयासों का आह्वान

मनीला —  चार देशों की बैठक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आतंकवाद के खिलाफ संघर्ष में संयुक्त प्रयासों का आह्वान करते हुए मंगलवार को कहा कि भारत को इसके चलते बहुत अधिक नुकसान उठाना पड़ा है। वहीं आसियान के सदस्य देशों के नेताओं को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हिंद-प्रशांत क्षेत्र में नियमों पर आधारित क्षेत्रीय सुरक्षा ढांचे की स्थापना के लिए आसियान को भारत के समर्थन की मंगलवार को घोषणा की। मोदी के इस बयान को इशारों में हिंद-प्रशांत क्षेत्र में चीन की विस्तारवादी नीति के खिलाफ हमला माना जा रहा है। भारत और अमरीका सहित चार देशों की रविवार को हुई बैठक को लेकर चीन पहले से चिंतित है। मोदी ने कहा कि हमें आतंकवाद के कारण नुकसान उठाना पड़ा है। हमारे समक्ष एकजुट होकर आतंकवाद को खत्म करने के बारे में सोचने का समय आ गया है। उन्होंने कहा कि आसियान के 50 वर्ष गौरव, उल्लास और आगे की ओर सोचने का मौका है। प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत आसियान को अपनी एक्ट ईस्ट पालिसी के तहत प्रमुखता से रखता है। आसियान के साथ हमारे संबंध पुराने हैं और हम सहयोग को और मजबूत करना चाहते हैं। सम्मेलन में दक्षिण चीन सागर विवाद की छाया साफ देखने को मिली। प्रधानमंत्री ने आसियान नेताओं से कहा कि हम क्षेत्र में कानून आधारित सुरक्षा व्यवस्था के लिए आसियान को अपना समर्थन जारी रखेंगे। बता दें कि भारत इस सामरिक क्षेत्र को अंतरराष्ट्रीय कानून के हिसाब से मुक्त और खुला रखने का हिमायती रहा है। दक्षिण चीन सागर में चीन की बढ़ती सैन्य उपस्थिति भी आसियान सम्मेलन में विमर्श का विषय रही। चीन इस पूरे क्षेत्र पर अपना दावा जताता है, लेकिन वियतनाम, फिलीपींस और ब्रूनेई जैसे आसियान के कई सदस्य देश चीन के इस दावे का विरोध करते हैं।

मनीला में छाई भारत की बेटी पीएम के सामने पढ़ी कविता

खंडवा — मनीला में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सामने मध्य प्रदेश स्थित खरगोन जिला के करही की युक्ति भंडारी ने कविता पढ़ी। भारतीयों से चर्चा के दौरान पीएम मोदी ने खुद उन्हें मंच पर बुलाया और कविता पढ़ने को कहा। अपने घर की बहू-बेटी को मनीला में देश का नाम रोशन करते देख खंडवा, करही (खरगोन) और भानपुरा (मंदसौर )में परिवार में हर्ष है। युक्ति करही के धर्मचंद सुराणा की बेटी है। उनका विवाह भानपुरा में रजनी सुभाष भंडारी परिवार में हुआ है। मंचीय विधाओं में निपुण युक्ति को भारतीय एंबेसी ने मनीला में होने वाले आयोजन का निमंत्रण भेजा था। पीएम से मिलने पहुंचे लोगों में शामिल युक्ति पीएम के लिए एक कविता लिखकर ले गई थी। परिचय के दौरान जब पीएम ने उनकी कविता सुनी तो खुद उन्हें मंच पर बुलाया और कविता सुनाने को कहा। रोमांचित वातावरण में युक्ति अपनी प्रतिभा से चंद पलों में फिलीपींस में चर्चा में आ गईं। कोचर ने बताया कि युक्ति एक पारिवारिक आयोजन में एंकरिंग करने के लिए 21 जनवरी 2018 को खंडवा आ रही हैं। उसकी इस उपलब्धि से खंडवा सहित करही और भानपुरा में परिवार में खुशी और गौरव का माहौल है।

रोहिंग्या समस्या का हल निकालें आंग सान सू की

मनीला — संयुक्त राष्ट्र तथा अमरीका ने मंगलवार को यहां नोबेल पुरस्कार विजेता एवं म्यांमार की नेता आंग सान सू की से आग्रह किया कि वह वैश्विक मंच के साथ मिलकर रोहिंग्या समस्या का हल निकालें। अमरीका के विदेश मंत्रालय ने ट््वीट कर जानकारी दी कि विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन ने रोहिंग्या विस्थापन मुद्दे पर फिलीपींस की राजधानी मनीला में म्यांमार की नेता आंग सान सू की से मुलाकात की। उधर, ट््विटर पर पोस्ट किए गए संदेश में फिलीपींस में अमरीका के राजदूत ने कहा कि अमरीकी विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन ने आसियान, 2017 में आंग सान सू की के साथ म्यांमार की स्थिति पर चर्चा की। इससे पहले सुश्री सू की से मुलाकात के दौरान संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने कहा कि म्यांमार के बांग्लादेश पलायन कर गए लोगों को घर लौटने की इजाजत मिलनी चाहिए। संरा द्वारा जारी बयान में महासचिव ने मानवतावाद, सुरक्षा, प्रतिष्ठित, स्वैच्छिक और समुदायों के बीच निरंतर आपसी सामंजस्य की वापसी को जरूरी बताया।

You might also like
?>