मतगणना तक कोई छुट्टी नहीं

विधानसभा चुनावों के चलते लाहुल-स्पीति के अधिकारियों की लीव कैंसिल

केलांग – जनजातीय जिला लाहुल-स्पीति के अधिकारियों व कर्मचारियों को विंटर सीजन में मिलने वाली छुट्टियों के लिए अब 18 दिसंबर तक का इंतजार करना पड़ेगा। चुनाव आयोग ने साफ कर दिया है कि पहले विंटर सीजन में लोक निर्माण विभाग के अधिकतर अधिकारियों व कर्मचारियों को छुट्टियां मिल जाती थीं, लेकिन अब चुनावों के मद्देनजर लाहुल-स्पीति के अधिकारियों की छुट्टियों को रद्द कर दिया गया है। साथ ही कई अधिकारियों की ड्यूटी भुंतर के ट्राइबल भवन में बनाए गए स्ट्रांग रूम में लगाई गई है। ऐसे में अब मतगणना के बाद ही कर्मचारियों व अधिकारियों को छुट्टियां मिलेंगी।  उल्लेखनीय है कि इससे पहले सर्दियों के मौसम में ही अधिकतर अधिकारियों व कर्मचारियों को दो-दो माह तक की छुट्टियां मिल जाती थीं। 15 नबंवर को कुल्लू व लाहुल-स्पीति प्रशासन द्वारा रोहतांग दर्रे को आधिकारिक तौर पर बंद भी कर दिया जाता है। उससे पहले ही कई अधिकारी अपनी छुट्टियों की अनुमति लेकर लाहुल से आ जाते थे, लेकिन इस बार ऐसा नहीं होगा। चुनाव आयोग के दिशा-निर्देशों के चलते लाहुल-स्पीति के कर्मचारियों को चुनावी प्रक्रिया  संपन्न करवानी ही होगी। हालांकि चुनाव आयोग ने लाहुल की भौगोलिक परिस्थितियों को समझते हुए पहले ही सभी ईवीएम व वीवीपैट मशीनों को भुंतर पहुंचा दिया है। 18 दिसंबर को लाहुल-स्पीति घाटी बर्फबारी के कारण देश-दुनिया से पूरी तरह से कट जाती है। ऐसे में भुंतर में ही लाहुल-स्पीति विधानसभा क्षेत्र में हुए मतदान के मतों की गिनती भी करवाई जाएगी। बता दें कि लाहुल-स्पीति में अभी से ही तापमान माइनस में चल रहा है। वहीं, रोहतांग ने भी सफेद बर्फ की चादर ओढ़ ली है। लाहुल की घाटियों में हर रोज शाम को हल्की बर्फबारी भी हो रही है। उधर, जिला निर्वाचन अधिकारी लाहुल-स्पीति देवा सिंह नेगी का कहना है कि विंटर सीजन में कई कर्मचारियों को सर्दियों में छुट्टियां मिल जाती थीं, लेकिन अब चुनावी प्रक्रिया के चलते सभी कर्मचारियों की छुट्टियां रद्द कर दी गई हैं। मतगणना के बाद ही इस पर फैसला लिया जाएगा।

You might also like