अब 15 दिसंबर तक खुलवाएं खाता

डाक विभाग ने दी राहत, किसी भी स्कीम की मैच्योरिटी राशि अकाउंट में ही होगी ट्रांसफर

हमीरपुर— मैच्योरिटी राशि के भुगतान के लिए बचत खाता खोलने की तिथि को डाक विभाग ने बढ़ा दिया है। अब ग्राहक 15 दिसंबर तक प्रदेश भर के डाकघरों में जाकर खाता खुलवा सकते हैं। विभाग के इस फैसले से ग्राहकों को काफी राहत मिलेगी। इससे पहले विभाग ने मैच्योरिटी राशि का भुगतान करने के लिए बचत खाता खुलवाने की अंतिम तिथि 30 नवंबर निर्धारित की थी। बताया जा रहा है कि निर्धारित अवधि तक कई उपभोक्ता बचत खाता नहीं खुलवा पाए हैं, जिसके चलते इस तिथि को बढ़ाया गया है। डाक विभाग हमीरपुर के प्रवर अधीक्षक भवानी प्रसाद ने इसकी पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि 30 नवंबर की जगह अब 15 दिसंबर तक चेक से मैच्योरिटी राशि का भुगतान हो पाएगा। 16 दिसंबर से डाकघर में बचत खाता होने पर ही डाक विभाग किसी भी स्कीम का भुगतान करेगा। इतना ही नहीं, 15 दिसंबर के बाद सभी भुगतान डाकघर के ही खाते में ट्रांसफर किए जाएंगे। इसके लिए  ग्राहकों को डाकघर में खाता खुलवाना अनिवार्य रहेगा। भवानी प्रसाद ने बताया कि जमा निकासी को ऑनलाइन के दायरे में लाने के लिए संचार मंत्रालय से मिले निर्देशों के बाद विभाग इसकी तैयारी में जुटा हुआ है। उन्होंने बताया कि संचार मंत्रालय से आए निर्देशों में साफ कहा गया है कि डाक विभाग की किसी भी योजना में निवेश का कोई भी भुगतान ग्राहकों को चेक द्वारा नहीं किया जा सकेगा। विभाग की ओर से इसके लिए सीमा भी बढ़ाकर 15 दिसंबर निर्धारित कर दी गई है। भवानी प्रसाद ने बताया कि अब इस निर्धारित अवधि के बीच ग्राहकों को जल्द से जल्द खाता खुलवाना होगा। निवेश के लिए डाक विभाग की ओर से सुकन्या समृद्धि योजना, सावधि जमा, मंथली इन्कम स्कीम, पीपीएफ व किसान विकास पत्र सहित विभिन्न योजनाएं संचालित की जा रही हैं। इन योजनाओं की अवधि पूर्ण होने ग्राहकों को भुगतान चेक के माध्यम से किया जाता था, लेकिन अब डाक विभाग ऐसा नहीं करेगा।

आधार से लिंक होंगे सभी खाते

सभी खातों को आधार कार्ड से लिंक करवाना होगा। बचत खाता खुलवाने की प्रक्रिया में पासपोर्ट साइज फोटो व आधार कार्ड जरूरी है। खाता खुलवाने पर खाताधारकों को मैसेज अलर्ट की सुविधा दी जाएगी। खाते में हर लेन-देन की सूचना फौरन खाताधारक को मिलेगी। मैसेज अलर्ट के लिए विभाग ग्राहकों का मोबाइल नंबर अपडेट करेगा।

You might also like