अभिषेक जैन की प्रतिनियुक्ति केंद्र से मंजूर

आईएएस ललित जैन भी इंटर स्टेट काडर के तहत पंजाब जाने की तैयारी में

शिमला— हिमाचल में दो और आईएएस अफसरों की कमी होने जा रही है। आईएएस काडर के अभिषेक जैन को जहां केंद्र सरकार के गृह मंत्रालय ने प्रतिनियुक्ति की मंजूरी दे दी है, वहीं ललित जैन भी इंटर स्टेट काडर के तहत पंजाब जाने की तैयारी में हैं। हिमाचल के लिए यह अहम बात है कि प्रदेश के आईएएस काडर से एक अधिकारी को जनगणना निदेशालय में पंजाब और चंडीगढ़ का दारोमदार दिया जा रहा है। इससे पहले आईएएस अधिकारी बलबीर तेगटा भी जनगणना निदेशालय में शिमला में रह चुके हैं। सूत्रों के अनुसार गृह मंत्रालय की सिफारिश पर केंद्रीय कार्मिक विभाग ने अभिषेक जैन के नियुक्ति आदेश प्रदेश सरकार को भेज दिए हैं, जिसे कार्मिक विभाग मुख्यमंत्री कार्यालय को भेजेगा। उनकी नियुक्ति निदेशक जनगणना एवं निदेशक सिटीजन रजिस्ट्रेशन के पद पर चंडीगढ़ में होगी, जो कि पंजाब का काम भी देखेंगे। बताया जाता है कि उनके पास हरियाणा या फिर हिमाचल का अतिरिक्त भार भी आ सकता है। अभिषेक जैन ने स्वयं इस पद के लिए अप्लाई किया था, जिनको केंद्रीय मंत्रालय ने सिलेक्ट किया है। कई दूसरे राज्यों के आईएएस अधिकारी भी इस पद को हासिल करने की कोशिश में थे। वर्तमान में अभिषेक जैन प्रदेश सरकार में निदेशक उद्योग के पद पर हैं। वह यहां पर कई जिलों के जिलाधीश भी रह चुके हैं। उधर, निदेशक सूचना प्रोद्यौगिकी के पद पर तैनात ललित जैन भी अपना काडर बदलकर पंजाब जाने की तैयारी में हैं। हालांकि उनके आदेश अभी तक नहीं हुए हैं और यह मामला भी मुख्यमंत्री कार्यालय को भेजा गया है, पर माना जा रहा है कि जल्द ही उनके आदेश हो जाएंगे। सूत्रों के अनुसार उनके काडर में बदलाव को लेकर सिफारिश भी दिल्ली से ही हुई है। हिमाचल प्रदेश में पहले ही अधिकारियों की कमी है, इस पर यहां से अधिकारी बाहर भाग रहे हैं।

प्रतिनियुक्ति पर जाएंगी नंदिता गुप्ता

आईएएस अधिकारी और कांगड़ा की मंडलायुक्त नंदिता गुप्ता भी केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर जा रही हैं, जिनका मामला भी यहां सरकार के पास मंजूरी के लिए पड़ा है। क्योंकि प्रदेश में आचार संहिता लागू है, लिहाजा अभी सचिवालय में कामकाज भी नहीं हो पा रहा। इस पर मुख्यमंत्री भी फिलहाल राज्य से बाहर हैं, जिनके लौटते ही इन अधिकारियों को बाहर जाने की अनुमति मिल जाएगी यह तय है।

You might also like