कसौली भाजपा में निष्कासन पर बवाल

सोलन— कसौली निर्वाचन क्षेत्र में सात भाजपा नेताओं को निष्कासित करने  का मंडल प्रस्ताव का मद्दा अब गहराता जा रहा है। कसौली निर्र्वाचन क्षेत्र से सात भाजपा कार्यकताओं ने रविवार को पत्रकार वार्ता की।  पत्रकार वार्ता में सत्यपाल कंबोज ने कहा कि उन्होंने पार्टी के खिलाफ  कोई भी कार्य नहीं किया है, फि र भी उन्हें  व उनके साथियों को निष्कासित करने का प्रस्ताव आला कमान को भेजा गया है। कंबोज ने कहा कि उन्होंने पार्टी को सर्वोच्च माना है।  पार्टी ने जिसे भी टिकट दिया है ,उन्होंने एक कार्यकर्ता के रूप में उसके लिए कार्य किया है। ऐसे में उन्हें निष्कासित किए जाने का प्रस्ताव निंदनीय है। सत्यपाल कंबोज ने कहा कि हरमेल धीमान को कसौली निर्वाचन क्षेत्र से टिकट मिलना चाहिए था ,लेकिन आलाकमान के द्वारा जब  डा. राजीव सहजल को टिकट दिया गया, तो भी उन्होंने पार्टी के हित में कार्य किया। कंबोज ने कहा कि बीते चुनाव में भी डा. सहजल मात्र 24 वोट  जीते थे।  उनके बूथ से भाजपा का ही प्रत्याक्षी आगे हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि पार्टी के हित के उन्होंने अपने साथियों के साथ मिलकर डोर-टू-डोर पार्टी के लिए कार्य किया है। डा. राजीव सहजल पर निशाना साधते हुए कंबोज ने कहा कि बीते लंबे अरसे से कसौली निर्वाचन क्षेत्र में वरिष्ठ कार्यकर्ताओं की अनदेखी की जा रही है।  उन्होंने जिंदगी भर साफ-सुथरी राजनीति  की है, लेकिन उनके खिलाफ  निष्कासित प्रस्ताव को भेज कर उनकी छवि को खराब करने  का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कसौली कांग्रेस का गढ़ माना जाता था , लेकिन भाजपा कार्यकर्ताओं के अथक प्रयास से कसौली में आज भाजपा मजबूत हुई है। ऐसे में वरिष्ठ कार्यकताओं की अपमान करने से पार्टी कमजोर होगी। उन्होंने कहा कि वह जल्द ही कोर्ट में षड्यंत्रकारियों के खिलाफ मुआवजे का दावा भी दायर करेंगे। इस मौके पर नरेंद्र अत्री , सुरेंद्र ठाकुर , मुनीष गुप्ता, देवराज ठाकुर, हरमेल धीमान ,नरेंद्र ठाकुर मौजूद रहे ।

You might also like