himachal pradesh news, himachal pradesh top stories, himachal pradesh tourism

मोदी को नीच कहने पर अय्यर कांग्रेस से सस्पेंड

राहुल ने कहा, माफी मांगो; मणिशंकर की सफाई, गलत हिंदी की वजह से बखेड़ा

नई दिल्ली— प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को दिल्ली स्थित इंटरनेशनल बाबा साहेब अंबेडकर सेंटर का उद्घाटन करते हुए कांग्रेस और राहुल गांधी पर इशारों में जमकर निशाना साधा और कहा कि कांग्रेस ने एक परिवार को बढ़ाने के लिए बाबा साहेब के योगदान को दबाया। पीएम के इस बयान पर कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने बहुत ज्यादा तल्ख टिप्पणी कर दी। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी को नीच और असभ्य तक कह डाला। भाजपा ने उनके इस बयान का गुजरात चुनावों में फायदा उठाने के लिए इस्तेमाल करना शुरू किया तो तो कांग्रेस ने भी तुरंत हरकत में आते हुए उनको पार्टी से सस्पेंड कर दिया। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि पार्टी इस तरह के बयानों का समर्थन नहीं करती है। मणिशंकर अय्यर को तुरंत प्रभाव से पार्टी से सस्पेंड कर दिया गया है और उनको कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल करने वाले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर बुरी तरह घिर गए। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने अय्यर को पीएम मोदी से माफी मांगने को कहा। राहुल ने साफ किया कि वह इस तरह की भाषा को स्वीकार नहीं करते। इस बीच मणिशंकर अय्यर ने सशर्त माफी मांग ली है। उन्होंने कहा कि पीएम ने उनके शब्द का गलत अर्थ लगाया। इसके साथ ही अय्यर ने इस पूरे विवाद के लिए अपनी कमजोर हिंदी को जिम्मेदार बताया है। राहुल ने ट्वीट किया कि भाजपा और प्रधानमंत्री अक्सर कांग्रेस पार्टी पर हमले के लिए खराब भाषा का इस्तेमाल करते हैं। कांग्रेस की संस्कृति और विरासत अलग है। मणिशंकर अय्यर ने प्रधानमंत्री के लिए जिस तरह की भाषा का इस्तेमाल किया है, मैं उसका समर्थन नहीं करता। कांग्रेस पार्टी और मैं उम्मीद करते हैं कि वह माफी मांगेंगे। हालांकि राहुल गांधी के इस स्टैंड से भाजपा संतुष्ट नहीं है। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इसे कांग्रेस पार्टी की रणनीति बताते हुए कहा कि पहले वे पीएम के खिलाफ असभ्य भाषा का इस्तेमाल करते हैं और जब लोगों में इसको लेकर गुस्सा भड़कता है तो माफी मांग लेते हैं। इसी बीच मणिशंकर अय्यर ने कहा कि उनके कहने का वह अर्थ नहीं, जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बता रहे हैं। मैं हिंदीभाषी नहीं हूं। मैंने इंग्लिश शब्द लो का मन में तर्जुमा किया नीच। मेरे कहने का मतलब नीची जाति में पैदा होने से नहीं था। यदि नीच शब्द का यह अर्थ भी हो सकता है तो मैं माफी मांगता हूं। यदि कांग्रेस को गुजरात में इससे नुकसान हो तो मुझे अफसोस होगा। मणिशंकर ने यह भी बताया कि हिंदी की कम जानकारी की वजह से उन्होंने एक बार पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी के लिए नालायक शब्द का इस्तेमाल कर दिया था। उधर, पूरे विवाद में राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव भी कूद गए हैं। यूपीए सरकार में अय्यर के साथ कैबिनेट मंत्री रह चुके लालू ने कहा कि मणिशंकर मानसिक रूप से फिट नहीं हैं।

प्रधानमंत्री बोले, लोग वोट से देंगे जवाब

सूरत – सूरत में चुनाव रैली के दौरान प्रधानमंत्री ने कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर के आपत्तिजनक बयान पर जोरदार पलटवार किया और उनके बयान को गुजरात का अपमान बताया। उन्होंने कहा कि मणिशंकर का यह बयान मुगल मानसिकता को दर्शाता है। मैं भले ही नीची जाति का हूं, लेकिन काम ऊंचे किए हैं। उन्होंने कहा कि ऊंच-नीच हमारे संस्कार में नहीं रहा, यह आपको ही मुबारक। हम ऐसी बातों का जवाब नहीं देते। इसका जवाब जनता देगी और यह जवाब उन्हें बैलेट पेपर से मिलेगा।

You might also like
?>