himachal pradesh news, himachal pradesh top stories, himachal pradesh tourism

अवैध कब्जों पर वन विभाग की आरी

नारकंडा में सौ, सराहन में 14 बीघा जमीन खाली

नारकंडा, रामपुर बुशहर – हाई कोर्ट के सख्त आदेश के बाद अब वन विभाग ने जगह-जगह सरकारी जमीन पर अवैध कब्जा करने वालों पर कड़ी कार्रवाई करनी शुरू कर दी है। वन विभाग, राजस्व विभाग पुलिस के साथ मिलकर अवैध रूप से लगाए गए सेब के पौधे काटकर जमीन पर कब्जा जमा रहा है। इसी कड़ी में बाघी बीट के बाघी व मातलु गांव, सराहन वन परिक्षेत्र में वन विभाग ने कार्रवाई की। बाघी व मातलु में पंद्रह बागबानों के लगभग चार हजार सेब के पौधे काटकर वन विभाग ने सौ बीघा से ज्यादा जमीन कब्जे में ली। मातलु गांव के सुरजन सिंह के 400 तथा हरदयाल के 300 सेब के पौधों पर विभाग की आरी चली। खबर की पुष्टि वन विभाग के आरओ श्यामा नंद शर्मा ने की है। वहीं, दूसरी ओर सराहन वन परिक्षेत्र में दो दिनों में 14 बीघा अवैध कब्जे पर वन विभाग की आरी चली। गुरुवार और शुक्रवार को वन विभाग, पुलिस और राजस्व विभाग की टीम ने सराहन वन परिक्षेत्र से करीब 14 बीघा तीन बिस्बा वन भूमि पर किए गए अवैध कब्जों पर डंडा चलाया है। डीएफओ अशोक नेगी ने खबर की पुष्टि की है।

कोटी में क्रशर के लिए काट दिए 400 पेड़

शिमला के कोटी में अवैध कटान का मामला सामने आया है। यहां पर करीब 400 पेड़ों पर कुल्हाड़ी चलाई गई है। पेड़ों का यह कटान लंबे समय से चला हुआ था। पेड़ कटान का पता चलने पर वन अधिकारियों में हड़कंप मच गया। विभाग के अधिकारियों ने मौके पर जांच शुरू कर दी है, वहीं पुलिस की टीम ने भी मौके पर पहुंचकर जांच शुरू कर दी। आरंभिक जांच में एक व्यक्ति के खिलाफ इंडियन फोरेस्ट एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि जहां पेड़ों का कटान किया गया है, वहां आरोपी की क्रशर लगाने की योजना थी।

You might also like
?>