एसवीएन पब्लिक सीनियर सेकेंडरी स्कूल, नाहन

हिमाचल के श्रेष्ठ स्कूल-13

कुंदन ठाकुर प्रिंसीपल

शिक्षा के क्षेत्र में जिला सिरमौर के नाहन स्थित शिशु विद्या निकेतन पब्लिक सीनियर सेकेंडरी स्कूल आज जहां नए आयाम स्थापित कर रहा है, वहीं स्थापना के करीब 43 वर्ष बाद शिशु विद्या निकेतन स्कूल नाहन प्रदेश में अपनी एक अलग पहचान बना चुका है। बेहतरीन शिक्षा माहौल विद्यार्थियों में आत्मविश्वास कूट-कूट कर स्कूल में भरा हुआ है। एसवीएन स्कूल नाहन जिला में ऐसा पहला स्कूल था, जहां पर विद्यार्थियों को डिजिटल शिक्षा की शुरुआत की गई है। हाल ही में हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड की दसवीं कक्षा की परीक्षा में स्कूल की तीन छात्राओं ने प्रदेश में शीर्ष 10 स्थानों में से तीन स्थान अर्जित कर न केवल स्कूल का नाम रोशन किया, बल्कि जिला सिरमौर को भी गौरवान्वित किया है। शिशु विद्या निकेतन स्कूल की बागडोर युवा व प्रगतिशील प्रधानाचार्य कुंदन ठाकुर के हाथ में है। इस वर्ष के हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड की दसवीं की परीक्षा में रिया चौहान ने 693 अंक लेकर प्रदेश भर में जहां दूसरा स्थान प्राप्त किया, वहीं कृतिका ठाकुर ने 685 अंक लेकर नौवां तथा केशवी ने 684 अंक प्राप्त कर 10वां स्थान अर्जित किया। यही नहीं, इसी सत्र में विद्यालय के 43 विद्यार्थियों को मैरिट सर्टिफिकेट प्राप्त हुए, जबकि 22 विद्यार्थियों को हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड द्वारा प्रदान किए जाने वाले लैपटॉप मिले। शिशु विद्या निकेतन स्कूल नाहन में विद्यार्थियों को आधुनिक सुविधाओं से लैस शिक्षा प्रदान की जा रही है। स्कूल के प्रधानाचार्य कुंदन ठाकुर ने बताया कि विद्यालय में 12 डिजिटल क्लास रूम हैं। विज्ञान को रुचिपूर्ण बनाने के लिए एक्टिविटी किट्स उपलब्ध हैं। इसके अलावा अभिभावकों व अध्यापकों में बेहतरीन तालमेल के लिए विद्यालय में मोबाइल ऐप लांच किया है, जिसके माध्यम से विद्यार्थियों से संबंधित पूर्ण जानकारी मोबाइल ऐप पर अभिभावकों के लिए ऑनलाइन उपलब्ध रहती है। स्कूल प्रधानाचार्य कुंदन ठाकुर ने बताया कि विद्यालय में छात्रों की एक्टिविटी पर पूरी नजर रखी जाती है। इसके लिए स्कूल में बाकायदा क्लोज सर्किट कैमरे लगाए गए हैं। विद्यालय में 28 शिक्षक व सात गैर शिक्षक उच्च शिक्षित व प्रशिक्षित कर्मियों का स्टाफ है, जो सदैव छात्रहित में तत्पर रहते हैं। स्कूल में वर्तमान में नर्सरी से जमा दो कक्षा तक 652 विद्यार्थी शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। वर्ष 1974 में नाहन में समाजसेवी तारा वर्मा द्वारा स्थापित किए गए। शिशु विद्या निकेतन स्कूल आज शिक्षा के क्षेत्र में जिला सिरमौर में लंबा सफर तय कर चुका है। स्कूल के पहले प्रधानाचार्य आरडी सेम ने स्कूल में विद्यार्थियों की सर्वप्रथम बुनियाद रखी थी। शुरुआती दौर में ही शिशु विद्या निकेतन स्कूल ने सफलता की ऊंचाइयों को छुआ। विद्यालय के पहले बैच के अधिकतर विद्यार्थी आज वैज्ञानिक, डाक्टर, इंजीनियर, सेना अधिकारी, अधिवक्ता व पुलिस अधिकारी के रूप में न केवल प्रदेश में बल्कि देश के विभिन्न राज्यों में सेवाएं दे रहे हैं। वर्ष 2004 से एसवीएन स्कूल नाहन की बागडोर प्रधानाचार्य कुंदन ठाकुर संभाल रहे हैं। उसके बाद विद्यालय में कई परिवर्तन हुए तथा विद्यालय की उपलब्धियों में भी दिन प्रतिदिन नए आयाम स्थापित हो रहे हैं। वर्ष 2009 में बोर्ड की आठवीं की परीक्षा में विद्यालय के छात्र हरदीप पंवार ने 700 में से 600 अंक प्राप्त कर जहां प्रदेश में चौथा स्थान प्राप्त किया था, वहीं मार्च, 2013 में दसवीं की वार्षिक परीक्षा में विद्यालय की आंचल गुप्ता ने 700 में से 479 अंक प्राप्त कर प्रदेश भर में दूसरा स्थान प्राप्त कर स्कूल का नाम चमकाया। मार्च, 2014 में विद्यालय के प्रथम कंवर ने वार्षिक परीक्षा में प्रदेश भर में दसवीं में आठवां स्थान मैरिट में प्राप्त किया। उसके पश्चात वर्ष 2014 में विद्यालय की टीम राहुल शर्मा व जसप्रीत ने प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता में पहला स्थान प्राप्त किया। इसके अलावा वर्ष 2016 में विद्यालय के सुशांत चौहान ने विज्ञान सेमिनार में प्रदेश भर में दूसरा स्थान प्राप्त कर सिरमौर जिला को गौरवान्वित किया। यही नहीं, वर्ष 2016 में एसवीएन स्कूल ने समूह गान की अंडर-15 छात्राओं की प्रदेश स्तरीय प्रतियोगिता में दूसरा स्थान, जबकि अंडर-12 छात्र वर्ग में समूह गान में तीसरा स्थान प्राप्त किया। इसके अलावा अंडर-15 छात्र वर्ग में ब्लॉक स्तर पर विद्यालय को ऑल राउंड बेस्ट का खिताब मिला।

क्या कहते हैं प्रधानाचार्य

शिशु विद्या निकेतन वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय नाहन में विद्यार्थियों को जहां संस्कार पर आधारित शिक्षा दी जाती है, वहीं विद्यार्थियों को आत्मविश्वास, आत्मसम्मान व अनुशासन के बारे में भी शिक्षा दी जाती है। स्कूल में विद्यार्थियों की सुरक्षा व विभिन्न प्रकार की गतिविधियों पर भी गुप्त कैमरे से नजर रखी जाती है।

-सूरत पुंडीर, नाहन

You might also like