गुजराती बादाम की मूंगफली देख मुंह में पानी

मंडी — नववर्ष के पहले त्योहार लोहड़ी को लेकर छोटी काशी मंडी में खूब धूम है। लोहड़ी पर्व को लेकर जहां बाजारों में खूब भीड़ है, वहीं त्योहार से दो दिन पहले ही बच्चों ने घर-घर जाकर लोहड़ी मांगना शुरू कर दिया। इसके अलावा बाजारों में कुछ युवाओं के समूहों ने ढोल बजाकर लोहड़ी मांगने का नया ट्रेंड शुरू किया है। इसके अलावा मंडी शहर के सेरी मंच, चौहाटा बाजार, इंदिरा मार्केट, स्कूल बाजार, बस स्टैंड सहित अन्य क्षेत्रों में दुकानदारों ने मूंगफली, गजक, रेवड़ी सहित अन्य खाद्य वस्तुओं से दुकानें सजा दी हैं। दुकानों से मूंगफली का क्विंटलों के हिसाब से ढेर लगाया है। बाजार में सस्ती से सस्ती मूंगफली बेचने के लिए दुकानदार अलग-अलग अंदाज में ग्राहकों को लुभाने के लिए आवाजें लगा रहे हैं। शुक्रवार को सबसे ज्यादा भीड़ मूंगफली की दुकानों पर रही। बाजार में मूंगफली 60 से 100 रुपए के बीच बिक रही हे। इसमें मूंगफली की अलग-अलग किस्में हैं। इसके चलते ग्राहक मूंगफली सहित अन्य खाद्य वस्तुएं खरीद रहे हैं। वहीं दूसरी ओर युवा वर्ग ने लोहड़ी पर्व को लेकर तैयारियां पूरी कर ली हैं। शनिवार शाम ढलते ही युवा वर्ग डीजे, नाटी सहित अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ लोहड़ी पर्व को मनाएंगे। वहीं ग्रामीण क्षेत्र के लोग पर्व के दौरान अलग-अलग स्वादिष्ट व्यजंन तैयार करेंगे।

समय के साथ बदला स्वाद, अब कई फ्लेवर

इस बार लोहड़ी पर्व पर छोटी काशी मंडी में गुजरात की मूंगफली, रेवड़ी, गजक अलग-अलग फ्लेवर में पहुंच गई हैं।  मूंगफली का नाम गुजराती बादाम है, जिसे खाकर लोग खूब मजे ले रहे हैं। इसके अलावा गुलाब तिल पापड़ी, इलायची मटका रेवड़ी सहित अन्य पदार्थ मंडी बाजार में पहुंच गए हैं। मंडी के दुकानदार अभिनव का कहना है कि उन्होंने गुजरात की मूंगफली, रेवड़ी, गजक पंजाब से मंगवाई है। उन्होंने बताया कि गुजराती बादाम मूंगफली का टेस्ट अन्य मूंगफली से काफी अलग है।

You might also like