चीन ताकतवर, कमजोर हम भी नहीं

सेना प्रमुख बोले, अपने क्षेत्र में घुसपैठ बर्दाश्त नहीं करेंगे

नई दिल्ली— सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने शुक्रवार को कहा कि चीन ताकतवर देश होगा, लेकिन भारत भी कमजोर नहीं है। भारत किसी को भी अपने क्षेत्र में घुसपैठ की अनुमति नहीं देगा। आर्मी चीफ ने चीन की तरफ से मिलने वाली चुनौतियों से निपटने के लिए भारतीय सेना की रणनीति पर कहा कि अब समय आ गया है कि भारत अपना ध्यान उत्तरी सीमा की ओर केंद्रित करे। देश इसके साथ ही चीन की आक्रामकता से निपटने में भी सक्षम है। सेना प्रमुख ने क्षेत्र में अपना प्रभाव बढ़ाने के चीन के आक्रामक प्रयासों के बीच कहा कि भारत अपने पड़ोसी देशों को खुद से दूर होते और चीन के करीब जाते नहीं देखना चाहता। डोकलाम मुद्दे पर उन्होंने कहा कि हम सीमा पर होने वाली गतिविधियों पर नजर रखे हुए हैं। किसी भी तरह की हलचल हुई तो हम तैयार हैं। श्री रावत ने आतंकवाद से निपटने को लेकर पाकिस्तान को दी गई अमरीका की चेतावनियों के बारे में कहा कि भारत को इंतजार करना होगा और इसका असर देखना होगा। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में आतंकवादी केवल इस्तेमाल करके फेंकने की चीज हैं। भारतीय सेना का नजरिया यह सुनिश्चित करना रहा है कि उसे दर्द का एहसास हो। उन्होंने साथ ही कहा कि भारत और चीन सीमा पर स्थिति सामान्य बनाए रखने तथा डोकलाम जैसे गतिरोधों की पुनरावृत्ति रोकने के लिए दोनों देशों के सेना के संचालन महानिदेशकों के स्तर पर हॉटलाइन व्यवस्था शुरू करने जा रहे हैं।

You might also like