himachal pradesh news, himachal pradesh top stories, himachal pradesh tourism

फायदेमंद है काली चाय

हममें से बहुत से लोगों के दिन की शुरुआत चाय के साथ ही होती है। दूध वाली चाय के अलावा कई लोग काली चाय भी पीना पसंद करते हैं। काली चाय पर हुए एक अध्ययन में पाया गया है कि हर रोज कम से कम 4 कप काली चाय पीने से मोटापा, डायबिटीज  और कैंसर जैसी बीमारी से भी छुटकारा पाया जा सकता है। यह चाय आपका वजन कम करने में सहायक है।  इसके अलावा भी इसके ढेर सारे फायदे हैं।

दिल की बीमारी के खतरे होंगे कम

काली चाय में फ्लेवोनाइड्स पाया जाता है जो कोरोनरी हार्ट डिजीज के खतरे को कम करने में मददगार है। दिन भर में 4 कप काली चाय पीने से कोलेस्ट्रॉल के स्तर में 6.5 प्रतिशत तक की कमी आती है। जिससे दिल के बीमारी का खतरा कम होता है।

पाचन तंत्र बने मजबूत

काली चाय पेट के लिए बेहद ही फायदेमंद पेय पदार्थ है। यह पेट में हानिकारक बैक्टीरिया को पनपने से रोकने के साथ ही पेट में अल्सर होने की संभावना को भी खत्म करती है।

ओवेरियन कैंसर का खतरा कम होगा

काली चाय में पालीफेनाल्स एंटीऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं जिन्हें थियाफ्लेविंस कहा जाता है। ये अंडाशय का कैंसर पैदा करने वाले सैल्स के प्रोडक्शन को रोकने में मदद करते हैं। एक अध्ययन में बताया गया है कि दिन भर में कम से कम दो कप काली चाय पीने वाले लोगों में ओवेरियन कैंसर का खतरा 30 प्रतिशत तक कम हो जाता है।

डायबिटीज के खतरे को कम करने में मददगार

डायबिटीज को साइलेंट किलर के नाम से जाना जाता है। काली चाय में मौजूद कैटेचिन्स और थियाफ्लेविंस शरीर को इंसुलिन सेंसिटिव बनाते हैं और बीटा सैल्स डिसफंक्शन को रोकने में मदद करते हैं। विशेषज्ञों का मानना है कि रोजाना दो कप काली चाय पीने वाले लोगों में टाइप 2 डायबिटीज होने का खतरा काफी कम होता है।

हड्डियों को बनाए मजबूत

जैसे- जैसे उम्र बढ़ती है वैसे- वैसे हमारी हड्डियां भी कमजोर होती जाती है। ऐसे में काली चाय की आदत आपकी इस समस्या से निजात दिला सकती है। काली चाय एंटीआक्सीडेंट से भरपूर होती है, जो रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाती है।

You might also like
?>