फूलगोभी के पौष्टिक गुण

फूलगोभी हमारे रोज के खान-पान में शामिल होने वाली आम सब्जी है, जिसके गुण बहुत व्यापक हैं। मूलतः क्रूसीफेरस  परिवार से आने वाली फूलगोभी का पौधा कई प्रकार के विटामिन, मिनरल्ज, एंटीऑक्सीडेंट्स और फाइटोकेमिकल से भरपूर होता है, जो सामान्य बीमारियों से लेकर कैंसर जैसे रोगों तक के बचाव में सहायक होता है। गोभी का फूल महज एक सब्जी ही नहीं है, बल्कि इसमें आपको सेहतमंद बनाने के भी कई गुण मौजूद होते हैं। गोभी को अपने आहार में शामिल कर आप कई बीमारियों से बच सकते हैं। साथ ही कई रोग होने पर आप गोभी के जरिये उनका उपचार भी कर सकते हैं। आइए जानते हैं फूलगोभी के फायदों के बारे में।

दिल के लिए बेहतर

फूलगोभी सेहत के लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद सब्जी है। यह दिल और कार्डियोवैस्कुलर को सुचारू रूप से कार्य करने हेतु प्रेरित करती है। फूलगोभी में सीने की जलन जैसी समस्या को कम करने का गुण होता है साथ ही यह ओमेगा 3 फैटी एसिड जैसे तत्त्वों के कारण ब्लड प्रेशर को सामान्य रखने में भी मदद करती है।

कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करती है

फूलगोभी फाइबर का उच्च स्रोत है, यह शरीर के कोलेस्ट्रॉल लेवल को सामान्य रखती है। फूलगोभी के सेवन से कोलेस्ट्रॉल का खतरा कम होता है। कोलेस्ट्रॉल से बचने के लिए इसका सेवन उचित होता है।

विटामिन ‘के’ की उपस्थिति

विटामिन ‘के’ शरीर के घावों को भरने व जल्दी ठीक करने में सहायता करता है। हड्डियों को मजबूती प्रदान करने में भी कैल्शियम के साथ इसका बहुत योगदान होता है। फूलगोभी में इसकी भरपूर मात्रा इसे और भी ज्यादा गुणकारी बना देती है। यह हड्डियों के विकास में सहायक होती है।

प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करती है

फूलगोभी एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर होती है, जो शरीर को रोगों से लड़ने में मदद करती है। इंडॉल 3 कार्बीनॉल नामक तत्त्व जो फूलगोभी में पाया जाता है, यह शरीर को बहुत सी ऐसी बीमारियां जो संक्रमण की वजह से होती हैं, उन्हें रोकता है और संक्रमण को शरीर में फैलने से बचाता भी है। इन रोगों में गले से जुड़े रोग प्रमुख हैं।

दिमागी विकास के लिए

यह विटामिन बी का बड़ा स्रोत है, जो दिमाग के विकास और मजबूती को बेहतर करती है। यह याद रखने की क्षमता को विकसित करती है। उम्र बढ़ने के साथ स्मरण शक्ति में होने वाली कमी जैसी समस्याओं में भी इसका प्रयोग करना फायदेमंद होता है। यह बचपन में दिमाग को टॉक्सिंज की वजह से होने वाले आंतरिक डैमेज से बचाती है और टॉक्सिंज के इस खतरे को आने वाले समय तक रोके रखती है।

गोभी में मौजूद मिनरल्ज

फूलगोभी कई तरह के खनिज पदार्थो का एक बड़ा स्रोत है। इसमें जिंक, पोटाशियम, कैल्शियम, सोडियम, सेलेनियम, मैगनीशियम और फास्फोरस जैसे मिनरल्ज बहुतायत में होते हैं। जिंक शरीर के घावों को भरने और नई कोशिकाओं के निर्माण में सहायक होता है। सेलेनियम प्रतिरक्षा तंत्र को सुचारू रखता है और फास्फोरस हड्डियों को मजबूती प्रदान करता है।

कैंसर से लड़ने में सहायक

इसमें उपस्थित फास्फोरस घटकों में से एक सल्फोराफेन शरीर को कैंसर की कोशिकाओं को नष्ट करता है और ट्यूमर को शरीर में बढ़ने से रोक कर शरीर की सुरक्षा करता है।

पाचन में सहायक

यह हमारी पाचन क्रिया को दुरुस्त करती है और पेट से जुड़ी कई प्रकार की समस्याओं से निजात दिलाती है। पेट दर्द से राहत के लिए फूलगोभी को गुणकारी माना गया है। आप नियमित रूप से उचित मात्रा में इसका सेवन कर पेट के कीड़ों से मुक्ति पा सकते हैं।

लिवर के लिए गुणकारी 

फूलगोभी में मौजूद मिनरल तत्त्व लिवर में एंजाइम्स को सक्रिय करता है। शरीर से टॉक्सिंज और अन्य विषैले पदार्थों को शरीर से बाहर निकालने के लिए यह लिवर की मदद करती है।

वजन कम करने के लिए

फूलगोभी एक ऐसी सब्जी है, जिसमें फोलिएट और विटामिन सी की उच्च मात्रा होती है, ये दोनों मिलकर अतिरिक्त वजन को बढ़ने से रोकते हैं। आप इसे पालक और लहसुन के साथ पका कर इसके स्वाद को और भी ज्यादा बढ़ा सकते हैं।

You might also like