बार काउंसिल सुलझाएगी सुप्रीम कोर्ट जज विवाद

नई दिल्ली— सुप्रीम कोर्ट विवाद फिलहाल खिंचता देख बार काउंसिल ऑफ इंडिया ने इसे जल्द खत्म के लिए शनिवार को पहल की है। काउंसिल का सात सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल रविवार को सुप्रीम कोर्ट के सभी जजों से पूरे मसले पर बातचीत करेगा। इस कमेटी के सदस्य सभी जजों से बारी-बारी मिलकर हल निकालने की कोशिश करेंगे। बता दें कि देश के इतिहास में पहली बार सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ जजों द्वारा प्रेस कान्फ्रेंस कर चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया पर गंभीर आरोप लगाने के बाद से ही सबकी नजर न्यायपालिका से जुड़े इस सबसे बड़े विवाद पर है। शनिवार को बार काउंसिल ऑफ इंडिया के अध्यक्ष मनन मिश्रा ने कहा कि एक मत से फैसला किया गया है कि हमारा सात सदस्यों का प्रतिनिधिमंडल रविवार को सुप्रीम कोर्ट के सभी जजों से मिलेगा। इसके लिए जजों से समय लिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि रविवार सुबह नौ बजे से प्रतिनिधिमंडल बातचीत शुरू कर देगा। श्री मिश्रा ने कहा कि हम बार की भावना से जजों को अवगत कराएंगे और उनसे आग्रह करेंगे कि मसले का शांतिपूर्ण और जल्द से जल्द निपटारा करें। उन्होंने कहा कि अगर बार के सीनियर मेंबर्स की मदद की जरूरत है तो हम तैयार हैं। श्री मिश्रा ने कहा कि न्यायपालिका पर लोगों की अटूट आस्था है। हम कोई ऐसा काम नहीं होने देंगे, जिससे इस पर आघात पहुंचे। बार काउंसिल ऑफ इंडिया के प्रमुख मनन मिश्रा ने कहा कि न्यायपालिका पर हो रही राजनीति ने हमें मर्माहित किया है। उन्होंने कहा कि जस्टिस लोया की मौत के मामले पर राजनीति हो रही है। श्री मिश्रा ने कहा कि हम सभी नेताओं से गुजारिश करते हैं कि इस पर कोई राजनीति न करें।

फुल बेंच में जाए मामला

नई दिल्ली — सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन ने शनिवार को प्रस्ताव पास किया कि जजों के मतभेदों से जुड़े मसलों पर सुप्रीम कोर्ट की फुल बेंच विचार करे। इस प्रस्ताव को सीजेआई के पास भेजा जाएगा।

संकट की कोई बात नहीं

कोलकाता — आरोप लगाने वाले चार जजों में से एक रंजन गोगोई ने शनिवार को साफ कहा कि कोई संकट नहीं है। कोलकाता पहुंचे जस्टिस गोगोई ने इसके अलावा किसी भी सवाल का जवाब नहीं दिया।

भलाई के लिए उठाई आवाज

नई दिल्ली — मोर्चा खोलने वाले कुरियन जोसेफ ने शनिवार को उम्मीद जताई कि उनकी ओर से उठाए गए मुद्दे को सुलझा लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि हमने यह मामला पूरी तरह न्याय और न्यायपालिका के हित में उठाया है।

You might also like