लाहुल के डाक्टरों को कारण बताओ नोटिस

कुल्लू – जनजातीय जिला लाहुल-स्पीति के विभिन्न सीएचसी और पीएचसी में तैनात डाक्टर ड्यूटी से नदारद रहने पर स्वास्थ्य विभाग ने कड़ी कार्रवाई अमल में लाई है। ये डाक्टर बिना बताए स्वास्थ्य केंद्रों से ड्यूटी छोड़कर कर जिला से बाहर निकले हुए हैं। विभाग ने ऐसे सभी डाक्टरों को कारण बताओ नोटिस जारी किए। यही नहीं, विभाग ने उनकी तनख्वाह भी रोक दी है। वहीं, अब दस दिन के भीतर ड्यूटी पर तैनात होने का अल्टीमेटम भी दिया है। यदि ये डाक्टर समय रहते ड्यूटी पर तैनात नहीं होते हैं, तो प्रदेश सरकार इस संबंध में कार्रवाई कर सकती है। फिलहाल विभाग ने ऐसे तीन-चार डाक्टरों को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिए हैं और उनकी सैलरी भी रोक दी है। वहीं, पिछले दिनों कृषि मंत्री डा. रामलाल मार्कंडेय ने लाहुल-स्पीति में तैनात डाक्टरों को जिला से बाहर रहने पर स्वास्थ्य विभाग को फटकार लगाई थी। इस पर विभाग ने तुरंत जिला से बाहर गए आरएच, पीएचसी और सीएचसी के 20 के करीब डाक्टरों को जल्द ड्यूटी पर पहुंचने के निर्देश दिए। इनमें से कुछ डाक्टर एग्जाम के चलते जिला से बाहर निकले थे, तो कुछ डाक्टर बिना बताए ही गए हैं। स्वास्थ्य विभाग की मानें छह डाक्टर हेलिकाप्टर के माध्यम से लाहुल पहुंच चुके हैं और ड्यूटी पर भी पहुंच गए हैं। बताया जा रहा है कि अभी भी 11 के करीब डाक्टर जिला से बाहर हैं। इन डाक्टरों को भी स्वास्थ्य विभाग ने जल्द लाहुल पहुंचने का अल्टीमेटम दिया है। उधर, स्वास्थ्य केंद्रों में डाक्टर नहीं होने से लाहुल के लोगों को उपचार करने में दिक्कतें आ रही हैं। उपचार के लिए लोगों को यहां-वहां भटकना पड़ रहा है। वहीं, बीते दिनों कुल्लू-मनाली दौरे पर आए कृषि मंत्री डा. रामलाल मार्कंडेय के समक्ष भी लाहुल के लोगों ने डाक्टरों के न मिलने की शिकायत की थी। इसके बाद मंत्री ने कड़ा संज्ञान लेते हुए डाक्टरों को तुरंत ड्यूटी पर तैनात होने के निर्देश दिए थे। वहीं लाहुल-स्पीति के कई स्वास्थ्य केंद्रों में दवाइयां भी नहीं पहुंच पाई है। कुल मिलाकर जिला में स्वास्थ्य सेवाएं चरमरा गई हैं।

You might also like