himachal pradesh news, himachal pradesh top stories, himachal pradesh tourism

विकल्पों की कमी नहीं

डा. केके  रैना

विभागाध्यक्ष, एमबीए  विवि नौणी, सोलन

एग्री बिजनेस में करियर से संबंधित विस्तृत जानकारी प्राप्त करने के लिए हमने केके रैना  से बातचीत की। प्रस्तुत हैं बातचीत के प्रमुख अंश…

एग्री बिजनेस में युवाओं के लिए करियर के क्या स्कोप हैं?

कृषि का एक विस्तृत क्षेत्र है। इसमें विशेषज्ञता हासिल करने के बाद युवा बेहतर करियर बना सकते हैं। एग्री- बिजनेस का मतलब है कृषि का प्रबंधन करना। कृषि प्रबंधन में उत्पादन, वित्त, बिक्री और भूमि प्रबंधन जैसे क्षेत्र  शामिल होते हैं। इस क्षेत्र में युवा शिक्षा ग्रहण कर या कोर्स करने के बाद रोजगार के लिए भटकता नहीं है, बल्कि उसके लिए रोजगार के कई विकल्प सामने होते हैं।

इस फील्ड में करियर के लिए शैक्षणिक योग्यता क्या है?

विज्ञान संकाय में 10+2 उत्तीर्ण होने वाले उम्मीदवार कृषि क्षेत्र में स्नातक की डिग्री कर सकते हैं। कृषि में स्नातक की डिग्री करने के बाद भारतीय विश्वविद्यालयों और विदेशी विश्वविद्यालयों में कृषि व्यवसाय में मास्टर डिग्री कर सकते हैं।

रोजगार के अवसर किन क्षेत्रों में उपलब्ध हैं?

कृषि के व्यवसायीकरण और हमारी अर्थव्यवस्था के वैश्वीकरण के बाद इस क्षेत्र में रोजगार की संभावनाएं काफी बढ़ी हैं। विभिन्न इंडस्ट्रीज और कंपनियों को कृषि विशेषज्ञों की जरूरत होती है। बीज उत्पादन कंपनियां, कीटनाशक तथा अन्य कृषि संबंधी दवाइयां बनाने वाली कंपनियों में रोजगार की अपार संभावनाएं होती हैं। इसके अलावा मार्केटिंग से जुड़ी कंपनियों में भी बेहतर अवसर युवाओं के लिए उपलब्ध हैं।

कहीं जॉब मिलने पर आरंभिक आय कितनी होती है?

इस क्षेत्र में वेतन शुरू में लगभग 25000 हो सकता है, लेकिन योग्यता के आधार पर यह बढ़ सकता है। वेतन अलग-अलग कंपनियों में अलग-अलग हो सकता है। विदेशों में सैलरी पैकेज लाखों में भी हो सकता है।

हिमाचल में इस से संबद्ध पाठ्यक्रम कहां चलता है?

हिमाचल में डा. वाईएस परमार बागबानी और वानिकी विश्वविद्यालय, नौणी और कृषि विवि पालमपुर में इस से संबंधित कोर्स करने के बाद उच्च डिग्रियां प्राप्त की जा सकती हैं।

युवाओं को इस में किन चुनौतियों का सामना करना पड़ता है?

चुनौतियां तो हर करियर में ही होती हैं। कृषि का क्षेत्र फील्ड वर्क है, तो युवाओं को कोई भी शोध करना है या कृषि संबंधित जानकारी लेनी है या कृषि विपणन से रू-ब-रू होना है, तो ज्यादा से ज्यादा इस क्षेत्र के टच में रहना होगा। चुनौतियों से पार पाने का एक ही गुरुमंत्र है मेहनत करना।

जो युवा इस करियर में पदार्पण करना चाहते हैं, उनके लिए कोई प्रेरणा संदेश दें।

करियर का यह क्षेत्र युवाओं के लिए अपार संभावनाएं लिए हुए है। एग्री- बिजनेस में आप जमीन से भी जुड़े रहेंगे और आपको रोजगार भी उपलब्ध होगा। इस ओर कदम तो बढ़ाओ, मंजिल जरूर मिलेगी।

– मोहिनी सूद, नौणी

You might also like
?>