151 होनहोरों को स्कॉलरशिप

एसजेवीएन के रजत जयंती छात्रवृत्ति समारोह में राज्यपाल ने थपथपाई प्रदेश के छात्रों की पीठ

शिमला— राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने शनिवार को राजभवन में सतलुज जल विद्युत निगम फाउंडेशन तथा हिमकॉन द्वारा आयोजित पुरस्कार वितरण समारोह में प्रदेश के 151 मेधावी विद्यार्थियों को एसजेवीएन रजत जयंती मैरिट छात्रवृत्ति पुरस्कार प्रदान किए। छात्रवृत्ति के लिए पात्र छात्र-छात्राओं को प्रमाण पत्र तथा 24 हजार रुपए के चेक प्रदान किए। यह राशि उन्हें डिग्री अथवा डिप्लोमा कोर्स पूरा करने तक हर साल प्रदान की जाएगी। इस अवसर पर आचार्य देवव्रत ने मेधावी विद्यार्थियों के लिए छात्रवृति योजना आरंभ करने की एसजेवीएन की पहल की सराहना की। रउन्होंने मेधावी विद्यार्थियों से देश सेवा में योगदान करने का आह्वान किया। कार्पोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व निदेशक मंडल की समिति के अध्यक्ष गणेश दत्त ने कहा कि समय-समय पर शिक्षा तथा स्वास्थ्य क्षेत्रों में विभिन्न पहलों को लागू करके सामाजिक जिम्मेदारी निर्वहन करने के प्रयास किए जा रहे हैं। महाप्रबंधक (सीएसआर) डीपी कौशल ने धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत किया। राज्यपाल के सचिव राजेश शर्मा, एसजेवीएन के निदेशक व अधिकारीगण, मेधावी विद्यार्थी तथा उनके अभिभावक भी समारोह में मौजूद रहे।

अब तक 1137 छात्रों को मिला लाभ

अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक नंदलाल शर्मा ने राज्यपाल का स्वागत किया और उन्हें सम्मानित किया। छात्रवृत्ति योजना के विभिन्न पहलुओं की जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि योजना वर्ष 2012-13 में आरंभ की गई थी और अभी तक कुल 1137 विद्यार्थियों को लाभन्वित किया जा चुका है। इस वर्ष योजना में 250 छात्र-छात्राओं को शामिल किया गया है, जिसमें 151 प्रदेश से हैं। जल विद्युत दोहन के अलावा एसजेवीएन स्वास्थ्य, शिक्षा, ढांचागत विकास तथा अन्य क्षेत्रों में भी सामाजिक जिम्मेदारी को बखूबी निभा रहा है। उन्होंने कहा कि एसजेवीएन ने सीएसआर के माध्यम से सामाजिक गतिविधियों पर छह साल में लगभग 165 करोड़ रुपए की राशि खर्च की है।

You might also like