himachal pradesh news, himachal pradesh top stories, himachal pradesh tourism

कांस्टेबल भर्ती रद्द करने के चर्चे

17 फरवरी को होने वाली मंत्रिमंडल बैठक में हो सकता है फैसला

शिमला— मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल की बैठक 17 फरवरी को शिमला में बुलाई गई है। बजट सत्र से पहले बुलाई गई इस बैठक में खेल, वन, उद्योग, ऊर्जा, टीसीपी व शिक्षा पर आधारित कई बड़े फैसले होने की उम्मीद है। पूर्व सरकार के दौरान पुलिस कांस्टेबलों की भर्ती के नतीजे अभी भी लटके हुए हैं। चर्चा यही है कि इन्हें रद्द किया जा सकता है। एचआरटीसी में कंडक्टर भर्ती पर भी निर्णय की स्थिति नहीं है। इसके भी परिणाम रोक कर रखे गए हैं। लिहाजा बैठक में इन दो बड़े मामलों में मंत्रिमंडल निर्णय सुना सकता है। प्रदेश में बड़े ऊर्जा प्रोजेक्ट्स को लेकर कोई फैसला नहीं हो सका है। ऊर्जा नीति में बदलाव के साथ-साथ परिवहन नीति में बदलाव का खाका भी लगभग तैयार है। सूत्रों के मुताबिक बैठक में इन दोनों बड़े मसलों पर विचार-विमर्श के बाद फैसला लिया जा सकता है। वन रक्षकों को हथियार व हाईटेक करने के निर्णय पर एक्सरसाइज पूरी हो चुकी है। लिहाजा अवैध कटान व तस्करी रोकने के लिए सरकार कुछ बड़े फैसले सुना सकती है। कानून व्यवस्था की मजबूती के लिए कई निर्णय आ सकते हैं। प्रदेश में शिक्षक तबादलों को लेकर शुरू से ही बवाल उठता रहा है। शिक्षा विभाग में इस बारे में नए सिरे से एक्सरसाइज शुरू की है। कई राज्यों के तबादला मॉडल का अध्ययन किया गया। चर्चा है कि बैठक में इस बारे में भी कुछ नया सुनने को मिल सकता है। हिमाचल में ऊर्जा नीति व परिवहन नीति के साथ-साथ युवा नीति पर भी नए सिरे से एक्सरसाइज चल रही है। संबंधित महकमों का दावा यही है कि यह पूरी की जा चुकी है। लिहाजा यदि मंत्रिमंडल में संस्तुति के बाद इन तीन महत्त्वपूर्ण मदों पर मुहर लग सकती है। खेल विभाग में परशुराम व द्रोणाचार्य अवार्ड के साथ-साथ यूथ वेलफेयर फंड व कई अन्य बड़े मामलों पर मंत्रिमंडल निर्णय सुना सकता है।  प्रदेश विधानसभा का बजट सत्र छह मार्च से शुरू होने जा रहा है। मुख्यमंत्री मंत्रिमंडल की बैठक में बजट पेश करने की तारीख के साथ-साथ बजट पारित करने को लेकर भी जानकारी दे सकते हैं। वहीं बजट सत्र के दौरान पेश किए जाने वाले कुछ बड़े  विधेयकों पर भी विचार विमर्श हो सकता है। टीसीपी पर आधारित अतिक्रमण को लेकर बड़े फैसले सुनाए जा सकते हैं।

प्रदेश में 23 हजार पद खाली

हिमाचल के विभिन्न महकमों में 23 हजार से भी ज्यादा पद खाली चल रहे हैं। शिक्षा, स्वास्थ्य, वन, परिवहन के साथ-साथ लोक निर्माण व पुलिस जैसे लोकहित से जुड़े विभागों में ये पद रिक्तियां कार्यशैली को प्रभावित कर रही हैं। उम्मीद की जा रही है कि प्रदेश की नई सरकार इस बारे में चर्चा के बाद कोई नीतिगत फैसला सुना सकती है।

कल से मंडी दौरे पर सीएम

मुख्यमंत्री 14 फरवरी से शिवरात्रि के लिए अपने गृह जिला के दौरे पर रहेंगे। जानकारी के मुताबिक इस दौरान कई और बड़े ऐलान भी हो सकते हैं।

You might also like
?>