जनरल जोरावर पर कपाड़ा के स्कॉलर ने की पीएचडी

धनेटा — ग्राम पंचायत नाल्टी के छोटे से गांव कपाड़ा के राकेश कुमार शर्मा पुत्र अमरजीत शर्मा को जीवाजी विश्वविद्यालय ग्वालियर में महामहिम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा पीएचडी की उपाधि प्रदान की गई।  राकेश कुमार शर्मा को जनरल जोरावर सिंह व्यक्तित्व एवं कृतित्व एक मूल्यांकन विषय पर शोध करने हेतु यह उपाधि प्रदान की गई। दीक्षांत समारोह की अध्यक्षता आनंदीबेन पटेल माननीय राज्यपाल मध्यप्रदेश ने की। विशिष्ठ अतिथियों के रूप में शिवराज सिंह चौहान मुख्यमंत्री मध्य प्रदेश, नरेंद्र सिंह तोमर केंद्रीय मंत्री, प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी  राज्यपाल हरियाणा, जयभान सिंह पवैया  उच्च शिक्षा मंत्री मध्य प्रदेश, माया सिंह  नगरीय प्रशासन एवं आवास मंत्री मध्य प्रदेश,  नारायण सिंह कुशवाह कैबिनेट मंत्री मध्य प्रदेश, प्रो. संगीता शुक्ला कुलपति जीवाजी विश्वविद्यालय ग्वालियर, प्रो. आनंद मिश्रा कुलसचिव जीवाजी विश्वविद्यालय ग्वालियर उपस्थित रहे। गौरतलब है कि राकेश कुमार शर्मा अकेले ऐसे शोधार्थी हैं, जिन्होंने जनरल जोरावर सिंह के जीवन पर पीएचडी की है। वह भारतीय इतिहास अनुसंधान परिषद नई दिल्ली के फेलो रहे हैं। वर्तमान में जनरल जोरावर सिंह महाविद्यालय धनेटा में सहायक प्रोफेसर इतिहास के पद पर कार्यरत हैं। उन्होंने बताया कि यह उनके लिए निश्चित तौर पर गर्व का विषय है कि उन्हें इस महान सेनानायक के जीवनवृत्त पर शोध कार्य करने का गौरव प्राप्त हुआ। वह जल्दी ही जनरल जोरावर सिंह के जीवन एवं उनकी उपलब्धियों पर एक पुस्तक हिंदी माध्यम में लिखकर उस महान सेनानायक को सच्ची श्रद्धांजलि के रूप में प्रस्तुत करेंगे। उन्होंने बताया कि शोध कार्य में उनके मार्गदर्शक प्रो. आनंद मिश्रा कुलसचिव जीवाजी विश्वविद्यालय ग्वालियर, प्रो. कुमार रतनम सदस्य भारतीय अनुसंधान परिषद नई दिल्ली का विशेष मार्गदर्शन प्राप्त हुआ। इस कार्य में उनके लिए डा. कुलदीप चंद अग्निहोत्री कुलपति केंद्रीय विश्वविद्यालय हिमाचल प्रदेश, चेतराम निदेशक एवं समन्वय प्रमुख ठाकुर जगदेव चंद स्मृति शोध संस्थान नेरी जिला हमीरपुर का भी विशेष सहयोग प्राप्त हुआ। इस उपलब्धि के लिए उनके पिता अमरजीत, परिवार एवं सगे संबंधियों का भी विशेष सहयोग मिलता रहा।

You might also like