देवमय हुई छोटी काशी..पहुंचे 146 देव

सालों बाद एक दिन पहले पधारे; आज शाही जलेब के बाद सजेगा उत्सव, मुख्यमंत्री जय राम करेंगे शुभारंभ

मंडी— नए वर्ष की शुरुआत में प्रदेश के पहले देव महाकुंभ के लिए छोटी काशी मंडी सज गई है। प्रदेश के पहले देवमहाकुंभ की गुरुवार को विधिवत शुरुआत होगी। मंडी को पहली बार मुख्यमंत्री मिलने के बाद इस बार छोटी काशी में शिवरात्रि महोत्सव का उत्साह भी दोगुना दिख रहा है। पूरे शहर को जहां दुल्हन की तरह सजाया गया है। इसी उत्साह में अंतरराष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव के विधिवत आगाज से एक दिन पहले ही छोटी काशी में 200 के लगभग देवी-देवता भी पहुंच गए हैं, जिसमें पंजीकृत देवी देवताओं की संख्या ही 146 है। यह वर्षों बाद हुआ, जब एक दिन पहले ही इतनी बड़ी तादाद में देवी-देवता पहुंचे हैं, जबकि पिछले वर्ष एक दिन पहले शिवरात्रि के लिए 110 के लगभग देवी-देवता पहुंचे थे। आज अंतरराष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव का विधिवत आगाज होगा। सात दिन तक चलने वाले इस महोत्सव का उद्घाटन मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर करेंगे। गुरुवार को महोत्सव की पहली शाही जलेब भी निकाली जाएगी, जिसमें मंडी रियासत के राज देवता माधोराय के संग देवी देवताओं व हजारों देवलू भाग लेंगे। पूरा दिन छोटी काशी देव ध्वनियों से गूंजती रही। शिवरात्रि महोत्सव में इस बार भी 216 पंजीकृत देवी-देवताओं को बुलाया गया है। इनके ठहरने का प्रबंध प्रशासन द्वारा कि या गया है, वहीं इस बार भी पड्डल मैदान में वाटरप्रूफ पंडाल बनाए गए हैं, ताकि बारिश के कारण मेले में कोई खलल न पडे़। उपायुक्त ऋगवेद ठाकुर ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव का आगाज होगा, जिसके लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। कानून व्यवस्था बनाए रखने के भी पूरे प्रबंध किए गए हैं। मुख्यमंत्री इस शिवरात्रि महोत्सव का विधिवत उद्घाटन करेंगे, जबकि 21 फरवरी को इसका समापन राज्यपाल के करकमलों से होगा। इस बार पहले से अधिक देवी-देवताओं के आने की उम्मीद है।

भक्तों के कंधों पर सवार होकर पहुंचे

महोत्सव के लिए कई देवी-देवता 100 किलोमीटर से अधिक व बर्फ पर चलते हुए मंडी पहुंचे हैं। मगरू महादेव, चपलांदू नाग छत्तरी से पैदल शिवरात्रि के लिए आए हैं। इसी तरह से शेटी नाग इससे भी अधिक दूरी से अपने भक्तों के कंधों पर सवार होकर आए हैं।

आठ हजार देवलु

शिवरात्रि महोत्सव में इस बार दोगुना तादाद में देवी-देवताओं के संग देवलु पहुंच रहे हैं। पहले दिन ही 200 के लगभग देवी-देवताओं के साथ आठ हजार से अधिक देवलुओं के आने की सूचना है, जिस कारण प्रशासन को अतिरिक्त व्यवस्था करनी पड़ी है।

महोत्सव में ऐसा होगा पहली बार

महोत्सव में इस दफा नई शुरुआत हुई है। पहली दफा हिमाचली कलाकारों को सबसे अधिक तरजीह मिलने जा रही है। पहली बार हिमाचली फनकारों को स्टार कलाकार बनने का मौका मिला है, जिसमें नरेंद्र ठाकुर गुरुवार को, हेमंत शर्मा व ठाकुर दास राठी 16 को और अनुज व कुलदीप शर्मा 19 फरवरी को स्टार कलाकार होंगे। पहली बार शिवरात्रि महोत्सव में 18 फरवरी को मंडी नाइट का आयोजन होगा, जबकि 15 को ही दिव्य कुमार, 17 को कुलबिंदर बिल्ला और 20 फरवरी को आदित्य नारायण भी स्टार कलाकार होंगे।

ये देवता पधारे

शिवरात्रि महोत्सव के लिए मंडी के बड़ादेव कमरूनाग मंगलवार को ही छोटी काशी पहुंच चुके हैं, जबकि बुधवार को पूरा दिन अन्य देवी देवताओं के आने का क्रम मंडी में लगा रहा, जिसमें हुरंग नारायण, देव पाशाकोट, मंडी राजघराने के कुल देवता पराशर ऋषि, विष्णू मतलोड़ा, देव चुंजवाला, शेटी नाग, मगरू महादेव, चपलांदू नाग, ब्रहमदेव तुंगासी, बिट्टू नारायण, मार्कंडेय ऋषि और पुंडरिक ऋषि सहित अन्य देवी देवता मंडी पहुंचे हैं।

You might also like