दोषी दवा कंपनियों पर कार्रवाई होगी ही

शिमला— लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करना राज्य सरकार की प्राथमिकता है और इस संबंध में किसी प्रकार का समझौता नहीं किया जा सकता। यह बात मंगलवार को स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री विपिन सिंह परमार ने कही। उन्होंने कहा कि राज्य में स्वास्थ्य संस्थानों के निर्माण की बात हो, इन संस्थानों में अधोसंरचना उपलब्ध करवाने की बात हो या दवाइयों के उत्पादन की, किसी भी स्तर पर कोताही बर्दाश्त नहीं की जा सकती। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि राज्य में कुछ दवा उत्पादन कंपनियों द्वारा निर्मित दवाओं के सैंपल फेल होने से संबंधित समाचार पत्रों में प्रकाशित खबरों पर मंत्री ने कड़ा रुख अख्तियार करते हुए दोषी दवा निर्माताओं के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। राज्य सरकार समय-समय पर विभिन्न दवाइयों की गुणवत्ता जांचने के लिए सैंपलिंग करवाती है और इसके दृष्टिगत कुछ महीनों के दौरान राज्य में कुल 1065 दवाओं के नमूने लिए गए, जिनमें से 33 फेल हुए हैं। मंत्री ने दवाओं के सैंपल फेल होने पर चिंता जाहिर करते हुए ऐसी कंपनियों को ब्लैकलिस्ट करने की बात कही है। उन्होंने कहा कि हालांकि जिन दवाओं के सैंपल फेल हुए हैं, उनके उत्पादकों को पहले ही नोटिस जारी किए जा चुके हैं और ऐसी दवाएं बाजार से तुरंत हटाने को कहा गया है। विभाग लगातार एसी दवाओं पर नजर रखे हैं और किसी भी स्तर पर कोताही करने पर बख्शा नहीं जाएगा। कुछ दवा कंपनियां, जिनमें मैडिपोल, अल्ट्रा, एफाइन, अल्ट्राटेक, पार्क, स्पैन, एडमिन, एचएल हैल्थ केयर शामिल हैं, की कुछ दवाओं के सैंपल फेल हुए हैं और इन कंपनियों को सख्त नोटिस जारी किए गए हैं।

विधानसभा सचिवालय में बैठकें

शिमला — प्रदेश विधानसभा सचिवालय में 12 व 13  फरवरी को ग्रामीण नियोजन तथा मानव विकास समिति की दो दिवसीय बैठकें संपन्न हो गई। इस दौरान समितियों द्वारा विभिन्न निर्णय लिए गए। ग्रामीण नियोजन समिति की बैठकें विक्रम सिंह जरयाल सभापति की अध्यक्षता में संपन्न हुई। इनमें राम लाल ठाकुर, नंद लाल, अर्जुन सिंह, अरुण कुमार, मुलख राज, आशीष बुटेल व होशियार सिंह ने भाग लिया। समिति अधिकारी ने सर्वप्रथम नवनिर्वाचित समिति के सदस्यों का प्रथम बैठक में उपस्थित होने पर स्वागत किया व परस्पर परिचय पश्चात ग्रामीण नियोजन समिति के आंतरिक कार्यप्रणाली की प्रक्रिया व नियमों से अवगत करवाया।  इसके अलावा मानव विकास समिति की बैठकें बलवीर सिंह सभापति की अध्यक्षता में संपन्न हुई। इमें विनय कुमार, लखविंद्र सिंह राणा, राकेश सिंघा, जीत रात कटवाल, सुभाष ठाकुर व सुरेंद्र शौरी ने भाग लिया।

You might also like