himachal pradesh news, himachal pradesh top stories, himachal pradesh tourism

प्रदर्शन की आग में उबली जंजैहली

एसडीएम आफिस थुनाग में खोलने की अधिसूचना जारी होने के बाद और गुस्साए लोग, सड़कों पर फूंके टायर

थुनाग— मुख्यमंत्री के गृह क्षेत्र जंजैहली में एसडीएम कार्यालय बंद करने को लेकर चल रहा विवाद बढ़ता ही जा रहा है। एसडीएम कार्यालय थुनाग में खोलने की अधिसूचना जारी होने के बाद सोमवार को जंजैहली में चल रहे प्रदर्शन में और उबाल आ गया। गुस्साए लोगों ने दिन भर जंजैहली में प्रदर्शन किया और बेकार पडे़ टायर आगे के हवाले कर दिए, जिसके बाद प्रशासन को धारा-144 लगानी पड़ी। बारिश में भी लोग सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करते रहे। कुछ लोगों ने बिजली के एक ट्रांसफार्मर पर भी पथराव किया। लोगों ने बडे़-बडे़ पत्थर सड़कों पर रखकर चक्का जाम भी कि या। दिन भर जंजैहली बाजार बंद रहा। लोगों ने एक दर्जन से अधिक बार मुख्यमंत्री के पुतले भी जलाए। लोगों ने जंजैहली बाजार में पुलिस को आने से रोकने का प्रयास किया। हालांकि सोमवार को हुए प्रदर्शन में पुलिस व लोगों के बीच कोई झड़प नहीं हुई। इसके बाद दिन भर लोगों का प्रदर्शन जारी रहा। कांग्रेस के चेतराम ठाकुर, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष जगदीश रेड्डी, संघर्ष समिति के अध्यक्ष नरेंद्र रेड्डी सहित कई अन्य नेता लोगों को संबोधित करते रहे। रविवार को हालांकि इस मामले में हल के आसार बन गए थे, लेकिन सुबह ही मंडी से तीन सौ के लगभग जवानों के साथ पुलिस की गाडि़यां सुबह ही जंजैहली पहुंच गई। इसके बाद पुलिस ने बाजार की तरफ कूच करना शुरू किया, लेकिन तबतक लोग एकत्रित हो गए और पुलिस गो-बैक के नारे लगाने शुरू कर दिए। इसके बाद इस रोष में आग पर घी का काम उस समय हुआ, जब सरकार ने एसडीएम कार्यालय को थुनाग में खोलने की अधिसूचना जारी कर दी। इसके बाद गुस्साए लोगों ने उपमंडलाधिकारी कार्यालय के लिए जाने वाला रास्ता बंद कर दिया। एक जगह पेड़ काट कर सड़क पर डाल दिया गया। कई स्थानों पर पत्थर, लकड़ी और शीशे फेंककर पुराने टायरों को आग लगा दी और जंजैहली मार्ग अवरूद्ध कर दिया, जिससे यातायात पूर्ण रूप से बाधित हो गया और भारी संख्या में इकट्ठे होकर गुस्साए लोगों ने मुख्यमंत्री और सरकार के विरुद्ध नारेबाजी की।

भाजपा के झंडे भी जलाए

लोगों ने प्रदर्शन करते हुए टायर आग के हवाले कर दिए, लेकिन प्रशासन का तर्क रहा कि लोगों ने ठंड से बचने के लिए ऐसा किया। जंजैहली पूरा दिन मौसम खराब रहा और लोग छाते लेकर बारिश के बीच डटे रहे। लोगों ने भाजपा के झंडे भी जलाए। मुख्यमंत्री के पुतलों के साथ भाजपा के झंडे भी आग के हवाले किए गए।

सीएम से पहले विधायक हैं जयराम ठाकुर

सराज संघर्ष समिति के अध्यक्ष नरेंद्र रेड्डी ने लोगों से शांतिपूर्वक प्रदर्शन की अपील की है। उन्होंने कहा कि आंदोलन जारी रहेगा। लोग सरकार से यह आश्वासन चाहते हैं कि जंजैहली के मुंह से निवाला न छीना जाए। कोर्ट के आदेशों के बाद सरकार को पक्ष रखते हुए जंजैहली में ही उपमंडलाधिकारी कार्यालय बरकरार रखना चाहिए। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री पहले सराज के विधायक हैं और उन्हें लोगों से बात करने के लिए आना चाहिए।

डीसी के कहने पर लौटे

शाम को उपायुक्त ऋगवेद ठाकुर ने जंजैहली पहुंचकर लोगों को संबोधित किया और मामला शांत करवाकर प्रदर्शन बंद करवाया। उन्होंने कहा कि एसडीएम कार्यालय यहां से कहीं नहीं जा रहा, जिसके बाद लोग शांत हुए और घर लौट गए। उन्होंने कहा कि जंजैहली में किसी प्रकार से सरकारी व गैर सरकारी संपत्ति को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है। एसपी मंडी गुरदेव शर्मा ने बताया कि जंजैहली सारी स्थिति नियंत्रण में है।

थुनाग के पत्रकार पर भी बोल डाला हमला

प्रदर्शन कर रहे लोगों ने सोमवार को ‘दिव्य हिमाचल’ के पत्रकार को भी नहीं छोड़ा। थुनाग से ‘दिव्य हिमाचल’ के पत्रकार ललित कुमार प्रदर्शन की कवरेज के लिए जंजैहली गए हुए थे, लेकिन प्रदर्शन कर रही भीड़ में से किसी ने उनके सिर पर डंडा दे मारा, जिससे वह घायल हो गए। लोगों ने क्षेत्रवाद को हवा देते हुए पत्रकार को यह भी कहा कि वह थुनाग का रहने वाला है और जंजैहली में कवरेज के लिए क्यों आया है।

आज भी रहेगी फोर्स

जंजैहली मामले में उग्र प्रदर्शन देखते हुए प्रशासन ने जिला व स्थानीय पुलिस के साथ ही थर्ड बटालियन पंडोह से भारी संख्या में पुलिस को तैनात किया है। सोमवार को भी पुलिस जंजैहली में तैनात रही। मंगलवार को भी जंजैहली में पुलिस का पहरा रहेगा और अगर सब कुछ शांत रहा, तो शाम को फोर्स वापस आएगी। सोमवार को भी प्रलिस ने कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए गाडि़यां बाजार में नहीं आने दी।

देर रात हटी धारा

जंजैहली में दिन भर प्रशासन ने धारा 144 लगाई रखी, लेकिन इसका लोगों पर कोई असर नहीं हुआ। भीड़ प्रदर्शन करती रही। शाम को उपायुक्त व पुलिस अधीक्षक गुरुदेव शर्मा से वार्ता के लोग शांत हुए, जिसके बाद प्रशासन ने देर रात जंजैहली से धारा 144 भी हटा दी गई। उपायुक्त मंडी ऋगवेद ने बताया कि लोगों के आश्वासन के बाद धारा 144 हटा ली गई है।

You might also like
?>