माधोराय की जलेब से शिवरात्रि महोत्सव शुरू

सज-धज कर निकले राजदेवता, शाही यात्रा में पहुंचे मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर

मंडी— अंतरराष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव-2018 का गुरुवार को छोटी काशी में राजदेव माधव राय की शाही जलेब से आगाज हो गया। एक साथ दो से ज्यादा देवी-देवताओं ने जब डीसी आफिस से पड्डल तक का सफर तय किया तो नजारा देखते ही बन रहा था। शिवरात्रि के देव मिलन में यूं तो आस्था का जनसैलाब हर बार खूब उमड़ता है, लेकिन पहली बार गृह जिला से सीएम जयराम ठाकुर ने जलेब मे शिरकत की तो लोगों की खुशी का ठिकाना न रहा। मुख्यमंत्री ने राजदेवता माधोराय के मंदिर में पूजा-अर्चना करने के बाद इस शाही जलेब में शिरकत की। रियासतकाल से निकलने वाली राजदेवता माधव राय की जलेब गुरुवार को शान से निकली। मुख्यमंत्री ने पड्डल मैदान में ध्वजारोहण कर एक सप्ताह तक चलने वाले मेलों का विधिवत शुभारंभ किया। माधव राय की जलेब में सबसे आगे पुलिस के घुड़ सवार और होमगार्ड बैंड, पुलिस जवान, होमगार्ड्स, महिला गृहरक्षकों की टुकडि़यों के अलावा स्कूली बच्चे और लोक नर्तकों के दल सांस्कृतिक छटा बिखेरते सांस्कृतिक दलों ने भी राजदेवता की जलेब में शिरकत की। जलेब के दौरान मनमोहक झांकियों ने भी दर्शकों का मन मोह लिया। शिवरात्रि महोत्सव के दौरान निकलने वाली माधोराय की जलेब में बालीचौकी क्षेत्र के देवता छानणू-झमाहूं की जोड़ी ढोल-नगाड़ों की धुन पर झूमते हुए सबसे आगे चल रही थी। जलबे में तीन दशकों बाद चौहारघाटी के देवता हुरंग नारायण की अगवाई में चौहारघाटी के चार देवता शामिल हुए। मेला कमेटी के अध्यक्ष उपायुक्त मंडी ऋग्वेद ठाकुर ने मुख्यमंत्री का स्मृति चिन्ह, शॉल और हिमाचली टोपी भेंट कर स्वागत किया। उत्तरी भारत में भव्य देव समागम के लिए विख्यात मंडी शिवरात्रि मेले 21 फरवरी तक जारी रहेंगे।

जलेब पर हावी रहा जंजैहली का साया

शिवरात्रि मेले में निकली जलेब पर मुख्यमंत्री के गृह क्षेत्र में चल रहे एसडीएम कार्यालय को लेकर आंदोलन का साया भी मंडराता रहा। शिवरात्रि के इतिहास में यह पहली बार हुआ है कि चार जिलों के एसपी कानून व्यवस्था देखने के लिए मंडी में तैनात कर दिए गए थे। इसी के चलते मुख्यमंत्री और उनके सहयोगी माधोराय की जलेब में पैदल चलने के बजाय खुली जीप में सवार हुए।

 

You might also like