अब बांग्लादेश की बारी

निदाहास ट्रॉफी

अपने आखिरी ग्रुप मैच में जान लड़ाएंगे भारतीय धुरंधर, मुकाबला शाम सात बजे से

कोलंबो – मेजबान श्रीलंका को पिछले मुकाबले में आसानी से हराने के बाद सुखद स्थिति में दिखाई दे रही रोहित शर्मा की कप्तानी में भारतीय क्रिकेट टीम बुधवार को बांग्लादेश के खिलाफ अपने आखिरी ग्रुप चरण मुकाबले में जीत के साथ निदाहास त्रिकोणीय सीरीज के फाइनल में जगह पक्की करने उतरेगी। निदाहास ट््वेंटी-20 सीरीज में यदि मौजूदा स्थिति को देखें तो भारत ने अपने तीन मैचों में दो जीते हैं और वह चार अंकों के साथ तालिका में शीर्ष पर है, जबकि मेजबान टीम श्रीलंका ने तीन मैचों में एक जीता है और दो हारे हैं, जबकि बांग्लादेश ने दो मैच खेले हैं, जिसमें एक जीत और एक हार के बाद वह दो अंकों के साथ तीसरे नंबर पर है। मौजूदा स्थिति में भारत के लिए अपनी फाइनल में जगह सुनश्चित करने के लिए बांग्लादेश पर जीत दर्ज करना काफी अहम होगा, क्योंकि यदि इस मैच में बांग्लादेश जीत दर्ज कर लेता है और अगले मैच में श्रीलंकाई टीम भी अपना आखिरी मैच बांग्लादेश से जीत जाती है तो नेट रनरेट की फाइनल टीम तय करने में अहम भूमिका रहेगी। ऐसे में पेचीदा समीकरणों से बचने के लिए जरूरी होगा कि रोहित की युवा टीम आखिरी मैच में जीत से फाइनल का टिकट पक्का कर ले। बांग्लादेश के खिलाफ पिछले मैच में जीत दर्ज कर चुकी भारतीय टीम आर प्रेमदासा स्टेडियम में फिर से इसी प्रदर्शन को दोहराने का प्रयास करेगी, जबकि विपक्षी टीम पिछली हार का बदला चुकता करने के साथ फाइनल के लिए अपना दावा पक्का करना चाहेगी।  हालांकि घरेलू टीम के खिलाफ पिछले मैच में जीत से भारत का मनोबल काफी बढ़ा है। इस मैच में शार्दुल ठाकुर का प्रदर्शन काबिलेतारीफ रहा था, जिन्होंने अनुभवी भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह जैसे तेज गेंदबाजों की अनुपस्थिति में काफी प्रभावित किया। शार्दुल ने 27 रन पर सर्वाधिक चार विकेट निकाले थे और घरेलू टीम को 152 पर रोकने में मदद की जो भारत की जीत में अहम रहा, क्योंकि ओपनिंग मैच में श्रीलंका भारत के 174 रन के बड़े स्कोर का भी पीछा कर चुकी है। मैन ऑफ दि मैच शार्दुल ने भी माना कि टीम में अनुभवी गेंदबाजों की अनुपस्थिति में उनके लिए आगे बढ़कर प्रदर्शन करना जरूरी है और वह रणजी टूर्नामेंटों में भी ऐसा कर चुके हैं और उनके लिए  यह किसी चुनौती की तरह है। शार्दुल के अलावा वाशिंगटन सुंदर, जयदेव उनादकट, युजवेंद्र चहल और विजय शंकर जैसे गेंदबाजों का प्रदर्शन भी संतोषजनक रहा।

टीम इंडिया

रोहित शर्मा (कप्तान), शिखर धवन, केएल राहुल, सुरेश रैना, मनीष पांडे, दिनेश कार्तिक, दीपक हुड्डा, वॉशिंगटन सुंदर, युजवेंद्र चहल, अक्षर पटेल, विजय शंकर, शार्दुल ठाकुर, जयदेव उनादकट, मोहम्मद सिराज, ऋषभ पंत

बांग्लादेश

महमूदुल्लाह (कप्तान), तामिम इकबाल, सौम्या सरकार, इमरुल कायेस, मुशफिकर रहीम, शब्बीर रहमान, मुस्ताफिजूर रहमान, रूबेल हुसैन, तसकीन अहमद, अबु हैदर, अबु जायेद, आरिफुल हक, नजमुल इस्लाम, नूरुल हसन, मेहदी हसन, लिटन दास

You might also like