जयकारों से गूंजी बाबा जी की नगरी

दियोटसिद्ध  —श्री बाबा बालक नाथ मंदिर दियोटसिद्ध में बुधवार से चैत्र मास मेले शुरू हो गए। ये मेले महीना भर चलेंगे। श्री सिद्ध बाबा बालक नाथ मंदिर में उपायुक्त राकेश प्रजापति ने मंदिर में हवन व विधिवत पूजा-अर्चना कर परंपरागत झंडा चढ़ाने की रस्म अदा की। इस अवसर पर एसपी रमन मीणा, एडीसी रतन गौतम, एसडीएम एवं अध्यक्ष विशाल शर्मा, सिद्ध बाबा बालक नाथ मंदिर न्यास तथा मेला समिति के सरकारी और गैर सरकारी सदस्यों सहित बड़ी संख्या में श्रद्धालु उपस्थित रहे। चैत्र मेले 13 अप्रैल तक चलेंगे और हर वर्ष की भांति इस बार भी इन मेलों में हिमाचल सहित उत्तरी भारत के विभिन्न राज्यों से लाखों श्रद्धालुओं के आने की संभावना है। उपायुक्त राकेश प्रजापति ने बताया कि मेले के सफल आयोजन के लिए सभी पुख्ता प्रबंध किए गए हैं।  मेलों के दौरान श्रद्धालुओं के ठहरने की पूरी व्यवस्था की गई है। मेले के दौरान मंदिर चौबीस घंटे खुला रहेगा। रात को 12 बजे थोड़ी देर के लिए मंदिर साफ-सफाई के कारण बंद रहेगा। मंदिर न्यास द्वारा चलाए जाने वाला लंगर मेले के दौरान चौबीस घंटे खुला रहेगा। उन्होंने कहा कि यात्रियों की सुविधा तथा उन्हें जागरूक करने के लिए मेला अधिकारियों, सेक्टर अधिकारियों तथा कर्मचारियों की नियुक्ति की गई है। उन्होंने पंजाब से आने वाले श्रद्धालुओं से अपील करते हुए कहा कि वे ट्रकों में न आएं। सरकार द्वारा उनकी सुविधा के लिए बड़ी संख्या में बसों की व्यवस्था की है। उपायुक्त ने बताया कि इस दौरान पर्याप्त संख्या में पुलिस तथा होेमगार्ड्स के जवान तैनात किए गए हैं। मेलों  के दौरान मंदिर परिसर को आठ सेक्टर में बांटा गया है। उन्होेंने प्राइवेट गाडि़यों में आने वाले भक्तों से भी अपील करते हुए कहा कि मंदिर परिसर में लोगों को आवाजाही में कोई मुश्किल न हो, इसलिए वे कम से कम गाडि़यों में बैठकर मंदिर में जाएं। मंदिर में सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से सुरक्षा व्यवस्था के भी पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। इस दौरान उपायुक्त राकेश प्रजापति ने मंदिर परिसर में श्रद्धालुओं के लिए उपलब्ध करवाई जा रही सुविधाओं का जायजा भी लिया तथा अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि मेलों के दौरान श्रद्धालुओं को किसी तरह की दिक्कत नहीं हो, इसके लिए कारगर कदम उठाए जाएं।

You might also like