सेंट्रल यूनिवर्सिटी का शिलान्यास इसी साल

जयराम सरकार का बड़ा ऐलान, धर्मशाला-देहरा में होंगे दो कैंपस

शिमला – लंबे समय से विवादों में फंसी रही सेंट्रल यूनिवर्सिटी को लेकर जयराम सरकार ने सोमवार को बड़ा ऐलान करते हुए कहा कि इसका विधिवत शिलान्यास इसी साल होगा। वर्तमान सरकार इस मामले में किसी भी विवाद में नहीं फंसेगी। सेंट्रल यूनिवर्सिटी कांगड़ा जिला में बनेगी और धर्मशाला व देहरा इसके दो कैंपस होंगे। शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने साफ कहा कि काफी समय हो चुका है, लेकिन हम सेंट्रल यूनिवर्सिटी को धरातल पर नहीं उतार सके हैं। इसे लेकर कई तरह के विवाद रहे हैं, जिस वजह से इसके निर्माण में देरी हुई। उन्होंने कहा कि सरकार की चिंता सेंट्रल यूनिवर्सिटी को स्थापित करना है। यहां बेहतरीन यूनिवर्सिटी बने, केवल इसी की चिंता होनी चाहिए, न कि किसी तरह के विवादों में फंसना चाहिए। सदन में सेंट्रल यूनिवर्सिटी का मामला विधायक राकेश सिंघा ने उठाया, जिनका कहना था कि सेंट्रल यूनिवर्सिटी का लंबे समय से विवाद चल रहा है कि यह धर्मशाला में बने या फिर देहरा में। इसी कारण इसके निर्माण में देरी हुई है। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार से उम्मीद है कि वह हर तरह के विवाद को समाप्त करेगी, ताकि यहां पर शिक्षा का स्तर सुधरे, न कि गिरे। इस पर शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने कहा कि सेंट्रल यूनिवर्सिटी के दो कैंपस होंगे, जोकि केंद्र सरकार ने पहले से तय कर दिए हैं। धर्मशाला और देहरा में ये कैंपस होंगे। देहरा में जो जमीन सेंट्रल यूनिवर्सिटी के कैंपस के लिए चाहिए, वह चिन्हित करने के बाद केंद्र के नाम पर कर दी गई है। इसमें वन भूमि की इजाजत भी मिल चुकी है। इसी तरह से धर्मशाला में भी यूनिवर्सिटी कैंपस के लिए जमीन देख ली गई है, जिसे अभी ट्रांसफर किया जाना शेष है। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार जल्दी ही दोनों जगहों पर केंद्र के नाम जमीन कर देगी और इसी साल विधिवत रूप से इसका शिलान्यास भी करवा दिया जाएगा। श्री भारद्वाज ने कहा कि सेंट्रल यूनिवर्सिटी हिमाचल में होगी और कांगड़ा जिला में ही होगी, हमें केवल इसकी चिंता करनी है। उल्लेखनीय है कि पूर्व सरकार के समय में यूनिवर्सिटी के कैंपस का मामला विवादों में घिरा रहा है। कांग्रेस सरकार इसे धर्मशाला में स्थापित करने के पक्ष में रही और भाजपा के सांसद अनुराग ठाकुर इसे देहरा में लाने के लिए प्रयासरत रहे। जमीन का मुद्दा तय नहीं होने के कारण यहां कई साल से घोषित सेंट्रल यूनिवर्सिटी  स्थापित नहीं हो सकी। अब मामला जयराम ठाकुर की सरकार के पाले में है, जिसने ऐलान किया है कि इसी साल इसके दोनों कैंपस का शिलान्यास करवा दिया जाएगा। देहरा के विधायक होशियार सिंह ने भी इस पर चिंता जाहिर की और कहा कि देहरा में यूनिवर्सिटी का कितना फीसदी हिस्सा होगा। इस पर सुरेश भारद्वाज ने कहा कि पूरी यनिवर्सिटी कांगड़ा जिला में ही होगी।

You might also like