जम्मू के बिनिया बने मल्ल सम्राट  

 शाहतलाई —शुक्रवार को शाहतलाई में हुए विशाल दंगल का शेरे हिमाचल मल सम्राट के खिताब 71 हजार राशि के लिए विनिया मीन जम्मू ने सोनू लंबा नाला कांगड़ा हिमाचल को फाइनल मुकाबले में पटकनी देते हुए जीता है। इसमें 41 हजार प्लस गुर्ज विनिया जबकि सोनू 31 हजार रुपए राशि जीती है। सीधी कुश्ती में शेरे बिलासपुर सम्राट 31 हजार रुपए के खिताब के लिए गोपी लीरा पंजाब व रवि रोहतक हरियाणा के बीच मुकाबले में गोपी ने 16 हजार रुपए मैदान मार लिया और रवि रोहतक को 15 हजार रुपए राशि  से  संतोष करना पड़ा। जबकि शेरे झंडूता सम्राट 15 हजार के लिए लाली ललिया पंजाब व विक्की चंडीगढ़ के बीच में कड़ा मुकाबला हुआ है। इसमें विक्की चंडीगढ़ ने आठ हजार जीतकर खिताब को अपने नाम कर लिया लाली को सात हजार रुपए राशि से पुरस्कृत किया गया। शेरे शाहतलाई सम्राट 13 हजार के लिए सीधी कुश्ती में अमित सोनीपत हरियाणा का मुकाबला  पटियाला पंजाब के बीच रहा। इसमें अमित सोनीपत ने सात हजार राशि जीतकर खिताब अपने नाम किया है, जबकि को छह हजार रुपए से पुरस्कृत किया गया। छोटी माली शेरे शाहतलाई सम्राट के लिए मुकाबला दीपक बणी हमीरपुर हिमाचल व चढ़त अटारी पंजाब के बीच में रहा। इसमें दीपक ने दस हजार रुपए राशि प्लस गुरज जबकि  चढ़त पंजाब पहलवान को नौ हजार रुपए राशि देकर पुरस्कृत किया गया। अंडर-20 शेरे शाहतलाई सम्राट बंटी बल्हसीणा बिलासपुर हिमाचल व सुरजीत धामी शिमला हिमाचल के बीच में रहा है। यह खिताब बंटी 3100 रुपए प्लस स्टील घड़ा जीता उपविजेता सुरजीत को 2500 रुपए देकर सम्मानित किया गया। सीधी कुश्ती में अमना लुधियाना व इंद्रजीत अमृतसर के बीच में बराबर का मुकाबला 6100  रुपए की राशि के लिए रहा। सीधे मुकाबले में नाजिर उत्तर प्रदेश व जसमीन रायपुर डब्बा के बीच में जसमीन ने बाजी मारी है। जब कि अन्य मुकाबले में तेजपाल लुधियाना पंजाब व दीपा पटियाला पंजाब के बीच में भी संघर्ष पूर्वक मुकाबला रहा है। राजू कांगड़ा व जयदीप चंडीगढ़ के बीच में राजू ने बाजी मारी है। जब कि हरिंदर दिल्ली व दीपू मानसा के बीच रोमांचिक मुकाबला अखाड़े में देखने को मिला है। लखदाता छिंज प्रतियोगिता कमेटी द्वारा सेऊ पुल से लखदाता मंदिर में आशीर्वाद के लिए पहुंचे उसके बाद बाजार से होते हुए अखाड़े तक शोभा यात्रा का मुस्ताक ढोलक की थाप पर सुंदर कार्यक्रम का आयोजन रहा है। कमेटी द्वारा विशेष अतिथि पूर्व राज्य सहकारी मंत्री रिखी राम कौंडल को टोपी व शॉल देकर सम्मानित करते हुए विशेष रूप से स्मृति चिंह भी भेंट किया गया। अखाड़े में मुख्यातिथि के रूप में पहुंचे श्रीसंत अनूप महाराज विट्टन ने तीनों खिताबों के विजेता व उपविजेता पहलवानों को कुश्ती से पहले अखाड़े में आशीर्वाद भी दिया। कमेटी की ओर से मुख्य अतिथि को शाल व टोपी के साथ बाबा बालक नाथ जी की स्मृति तस्वीर भी भेंट की गई।

अपने सपनों के जीवनसंगी को ढूँढिये भारत  मैट्रिमोनी पर – निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन!

You might also like