चंबा के पटवारखाने में जिंदा जला पटवारी

तीसा — चंबा के तीसा उपमंडल के झज्जाकोठी पटवारखाने में आग लगने से पटवारी जिंदा जल गया। मृतक की पहचान भगत राम पुत्र धनाधर वासी गांव ननोडी के तौर पर की गई है। पुलिस ने मंगलवार को शव को तीसा अस्पताल में पोस्टमार्टम करवाने के बाद परिजनों को सौंप दिया है। हालांकि फिलहाल आग लगने के कारणों का पता नहीं चल पाया है। उपमंडलीय प्रशासन की ओर से एसडीएम चुराह हेमचंद वर्मा ने मृतक के परिजनों को बीस हजार रुपए की फौरी राहत प्रदान कर दी है। जानकारी के अनुसार सोमवार रात को झज्जाकोठी स्थित पटवारखाने में बतौर पटवारी कार्यरत भगत राम राजस्व कार्य निपटाने के बाद सो गया। इसी दौरान देर रात बिस्तर में अचानक आग लगने से भगत राम बुरी तरह झुलस गया। देर रात जब पटवारी का बेटा वहां पहुंचा तो उसे कमरे के अंदर से कुछ जलने की गंध आई। पिता को आवाज लगाने पर अंदर से कोई जवाब नहीं मिला। इसके बाद उसने कमरे का दरवाजा तोड़ कर अंदर देखा तो उसके पिता बिस्तर पर बुरी तरह झुलसे हुए थे। बेटे के चीखने-चिल्लाने की आवाज सुनकर मौके पर पहुंचे लोगों के सहयोग से भगत राम को उठाकर उपचार के लिए तीसा अस्पताल पहुंचाया गया, जहां मौजूद चिकित्सक ने भगत राम को मृत घोषित करार दे दिया। घटना की सूचना पाते ही तीसा पुलिस थाना से एक टीम ने अस्पताल पहुंचकर मृतक के शव को कब्जे में ले लिया। पुलिस ने मंगलवार को मृतक के शव का परिजनों की मौजूदगी में पोस्टमार्टम करवाने के बाद घटनास्थल का दौरा कर साक्ष्य भी जुटाए। आरंभिक जांच के आधार पर पुलिस ने इस घटना को लेकर सीआरपीसी की धारा 174 के तहत कार्रवाई अमल में लाई है। उधर, एसपी चंबा डा. मोनिका ने घटना की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि घटना के विस्तृत कारणों की जांच की जा रही है। एसडीएम चुराह हेमचंद वर्मा ने बताया कि मृतक के परिजनों को बीस हजार रुपए की फौरी राहत प्रदान की गई है। राजस्व रिकार्ड को सुरक्षित करने के लिए नायब तहसीलदार को मौके पर भेज दिया गया है।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर-  निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन!

You might also like