रोहतांग-लाहुल-केलांग में बर्फबारी

दर्रा बंद, कबायली गांवों से संपर्क टूटा

केलांग—बर्फीले रेगिस्तान में आसमान से बरस रहे कहर ने कबायलियों को घरों में कैद कर दिया है। लाहुल-स्पीति में रविवार रात से शुरू हुए हिमपात के दौर ने घाटी के दर्जन भर गांवों का संपर्क भी जिला मुख्यालय से तोड़ दिया है। रोहतांग दर्रे पर जारी भारी हिमपात ने गाडि़यों की आवाजाही रोक दी है। लिहाजा लाहुल के बाशिंदों की मुश्किलें खराब मौसम ने बढ़ा दी हैं। सोमवार शाम तक रोहतांग दर्रे पर करीब एक फीट बर्फबारी दर्ज की जा चुकी थी, जबकि दर्रे पर बर्फबारी का दौर देर शाम को भी जारी रहा। ऐसे में बीआरओ के लिए रोहतांग दर्रा दो बार बहाल करना किसी नई चुनौती से कम नहीं होगा। लाहुल घाटी ने भी बर्फ की सफेद चादर ओढ़ ली है। मनाली-लेह मार्ग की बहाली में जुटे बीआरओ ने जहां बारालाचा दर्रे की सड़क से अभी हाल ही में बर्फ हटाई थी, वहीं रविवार देर रात से शुरू हुए हिमपात ने दर्रे को एक बार फिर बर्फ से ढक दिया है। बारालाचा दर्रे पर करीब डेढ़ फीट बर्फबारी दर्ज की गई है। लाहुल-स्पीति के कई ऐसे क्षेत्र हैं, जिनका जिला मुख्यालय से संपर्क कट गया है। बर्फबारी से यातायात भी प्रभावित हुआ है। ऐसे में जहां कुल्लू से केलांग के लिए जाने वाली एचआरटीसी की बसें मनाली में ही रोक दी गई हैं, वहीं लाहुल प्रशासान ने भी अलर्ट जारी कर दिया है। केलांग में सोमवार को दिन भर जहां हलके हिमपात का दौर जारी रहा, वहीं देर शाम बारिश ने भी लोगों को खासा परेशान किया।

ओलावृष्टि ने रुलाए बागबान

सोमवार को देखते ही देखते आसमान से ताबड़तोड़ शुरू हुई ओलावृष्टि ने जहां राहगीरों को परेशान कर दिया, वहीं सेब, प्लम, नाशपाति की फसल को भी तबाह कर दिया। महज आधे घंटे की ओलावृष्टि ने कुल्लू के बागबानों की फसलों को बर्बाद कर दिया। जिला के मनाली, नग्गर, कसौल, मणिकर्ण, बंजार, जरी, जलुग्रां में भी बारिश व ओलावृष्टि ने बागबानों की फसलें तबाह करने में कोई कसर नहीं छोड़ी है।

घर से बाहर न निकलें

उपायुक्त लाहुल-स्पीति अश्वनी कुमार चौधरी ने बताया कि रविवार देर रात से ही घाटी में बर्फबारी का दौर चल रहा है। प्रशासन ने अलर्ट जारी करते हुए लोगों से अपील की है कि खराब मौसम में घरों से बाहर न निकलें और सुरक्षित स्थलों पर ही रहें। मनाली-लेह मार्ग की बहाली का काम भी ठप हो गया है। एचआरटीसी के केलांग डिपो के आरएम मंगल चंद मनेपा ने बताया कि बर्फबारी होने के कारण निगम के लाहुल में कुछ रूट प्रभावित हुए हैं। मौसम साफ होने के बाद ही निगम की बस सेवा घाटी में बहाल हो सकेगी।

कहां, कितना रहा पारा

मौसम विभाग के निदेशक डा. मनमोहन सिंह ने बताया कि मध्य पर्वतीय क्षेत्रों में मंगलवार को एक-दो जगह प्रचंड आंधी व ओलावृष्टि होगी। मैदानी व उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में अनेक स्थानों पर बारिश होगी।  शिमला में अधिकतम तापमान 19.5, सुंदरनगर 31.4, भुंतर 22.2, कल्पा 10.4, धर्मशाला 27.2, ऊना में 38.8, नाहन 33.2, केलांग 3.5, सोलन में 29.0, कांगड़ा में 30.8, बिलासपुर में 33.7, हमीरपुर में 32.1, चंबा में 22.5 और डलहौजी में 14.8 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया।

अपने सपनों के जीवनसंगी को ढूँढिये भारत  मैट्रिमोनी पर – निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन!

You might also like