वाराणसी में निर्माणाधीन पुल गिरा; 16 की मौत, कई फंसे

वाराणसी— वाराणसी के कैंट एरिया में मंगलवार शाम निर्माणाधीन फ्लाईओवर का एक हिस्सा गिरने से उसके नीचे बड़ी संख्या में लोग और गाडि़यां दब गईं। हादसे में 16 लोगों की मौत हो गई, जबकि 50 से अधिक लोगों के मलबे में दबे होने की सूचना है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हादसे पर दुख जताते हुए अधिकारियों से फौरन मौके पर पहुंचकर कार्रवाई करने को कहा। राज्य सरकार ने हादसे में मृत लोगों के परिजनों को पांच लाख और गंभीर रूप से घायल लोगों को दो लाख रुपए का मुआवजा देने की घोषणा की है। गौर हो कि कैंट क्षेत्र में फ्लाईओवर का निर्माण लंबे समय से चल रहा था। मंगलवार शाम अचानकर इस पुल का एक हिस्सा टूटकर नीचे आ गिरा। इसके नीचे खड़ी गाडि़यों समेत कई लोग पुल के नीचे दब गए। उत्तर प्रदेश पुलिस डीजीपी ओपी सिंह ने बताया कि फौरन बचाव टीम को भेजकर लोगों को निकालने का काम शुरू कर दिया गया। एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमें हादसे में बचाव के लिए पहुंची और खबर लिखे जाने तक लोगों को निकालने की कोशिश जारी थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हादसे पर सीएम योगी से बात की है। ट्वीट में पीएम ने लिखा कि मैंने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से वाराणसी में निर्माणाधीन पुल गिरने से हुए हादसे पर बात की। उत्तर प्रदेश सरकार स्थिति पर करीब से नजर रखे हुए है और हादसे से प्रभावित लोगों की मदद के लिए जमीनी स्तर पर काम कर रही है। गौर हो कि उत्तर प्रदेश सेतु निगम के अंतर्गत 7741.47 लाख की लागत से बन रहे इस फ्लाईओवर में निगम पर घटिया निर्माण सामग्री लगाने का आरोप भी लग रहा है। पुल का निर्माण इसी साल अक्तूबर तक पूरा होना था। ऐसे में एक सवाल यह भी उठ रहा है कि क्या काम जल्दबाजी में जैसे-तैसे निपटाया जा रहा था और गुणवत्ता का ध्यान नहीं रखा गया।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर-  निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन!

You might also like