एचआरटीसी महासंघ अध्यक्ष को मारी चप्पल

हमीरपुर में स्वागत समारोह के दौरान निगम की महिला प्रशिक्षु कंडक्टर ने अंजाम दी वारदात, घटनाक्रम का वीडियो वायरल

हमीरपुर— लंबी सस्पेंशन के बाद बहाल हुए हिमाचल पथ परिवहन निगम कर्मचारी यूनियन के प्रदेशाध्यक्ष के साथ शुक्रवार को हमीरपुर में जो हुआ, ऐसा शायद कभी एचआरटीसी के इतिहास में नहीं हुआ होगा। यहां प्रदेशाध्यक्ष के स्वागत के लिए समारोह में दर्जनों लोगों की मौजूदगी में एक महिला प्रशिक्षु कंडक्टर ने प्रदेशाध्यक्ष शंकर सिंह ठाकुर को चप्पल मार दी। घटना उस वक्त घटी, जब  सुबह करीब सवा 11 बजे दो महिला प्रशिक्षु कंडक्टर उन्हें हार पहनाने के लिए आगे बढ़ीं थीं। शंकर सिंह ने जब गले में हार डलवाने से मना किया, तो उसके साथ खड़ी दूसरी महिला प्रशिक्षु ने भरी भीड़ में शंकर सिंह को चप्पल मार दी। इस घटनाक्रम का वीडियो भी वायरल हुआ है। घटनाक्रम के वक्त एचआरटीसी यूनियन नेताओं के अलावा पुलिस के जवान भी मौजूद थे। वहीं पिछले दिनों जिन हालात में यहां से एचआरटीसी का डीएम बदला गया है और उसके पीछे जो ताकतें रही हैं, अंततः आज वे ताकतें ही अपने सहकर्मी के आक्रोश का शिकार होती नजर आ रही हैं। बता दें कि शंकर सिंह के दो ऑडियो वायरल हुए थे। एक ऑडियो में वह हमीरपुर के पूर्व डीएम को फोन पर धमका रहे हैं, जिसमें डीएम का तबादला शिमला करने की बात भी कही गई थी। दूसरा वायरल ऑडियो शंकर सिंह और हमीरपुर की एक महिला प्रशिक्षु कंडक्टर का था, जिसमें हमीरपुर डिपो में तैनात दो महिला प्रशिक्षु कंडक्टरों का जिक्र किया जा रहा था कि वे फील्ड में नहीं जातीं और डीएम के घर में काम करती रहती हैं। इस बारे में शंकर सिंह और उस महिला प्रशिक्षु कंडक्टर की काफी लंबी बात हुई थी। उसके शंकर सिंह ने कहा था कि वह 21 जून को हमीरपुर आ रहे हैं, सब ठीक कर देंगे। गौर हो कि शंकर सिंह कांग्रेस कार्यकाल में सस्पेंड चल रहे थे। अभी कुछ दिन पहले बहाल हुए थे।

डीएम पर षड्यंत्र का आरोप

शंकर सिंह ठाकुर ने कहा कि जो भी हुआ है, उसके पीछे कथित भ्रष्ट डीएम का हाथ है। यह एक सोची-समझी साजिश थी। वह तो कर्मचारियों की समस्याएं जानने और मीटिंग करने के लिए हमीरपुर आए थे। उन्होंने कहा कि दो महिला प्रशिक्षु उन्हें हार डालना चाह रही थीं, लेकिन मैंने मना कर दिया, क्योंकि हिंदू धर्म में महिला केवल अपने पति के गले में ही हार डाल सकती है। आडियो का जिक्र करते हुए उन्होंने माना कि महिला कंडक्टर प्रशिक्षु के साथ उनकी बात हुई थी। महिला प्रशिक्षु ने अपनी समस्या का जिक्र किया था, तो मैंने कहा था कि जल्द ही उनकी समस्या का समाधान करने का प्रयास करूंगा। मुझे पता चला था कि जो महिला प्रशिक्षु अढ़ाई महीने के लिए कौशल विकास भत्ते पर रखी गई थी, वह तीन-तीन साल से डीएम की शह पर यहां टिकी हुई थी और फील्ड में काम  करने के बजाए डीएम के घर का काम करती थी। शंकर सिंह ने कहा कि इसके अलावा मैंने कुछ भी गलत नहीं कहा था।

मामला भी दर्ज

हमीरपुर — एचआरटीसी मजदूर संघ के प्रदेशाध्यक्ष की पिटाई के बाद पुलिस में मामला दर्ज हो गया है। दोनों ही पक्षों ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई है। प्रदेशाध्यक्ष शंकर सिंह ने शिकायत दर्ज करवाई है कि महिला ने उसके साथ मारपीट की है। वहीं महिला ने पुलिस में प्रदेशाध्यक्ष के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई है। महिला ने बताया कि व्यक्ति ने इसे बदनाम करने की कोशिश की है। इसका गलत आडियो बनाकर वायरल किया गया। मामले की पुष्टि पुलिस अधीक्षक रमन कुमार मीणा ने की है।

You might also like