कसौली में अवैध निर्माण गिराने का काम फिर शुरू

डीसी, एसपी से दो घंटे चली ठेकेदारों की गुफ्तगू, चार होटलों पर होगी कार्रवाई

कसौली – कसौली में होटल मालिकों के अवैध निमार्ण गिराने का काम दो सप्ताह बाद फिर से शुरू कर दिया गया है। इस दफा प्रशासन पहले से अधिक अलर्ट है। अब तक एसडीएम व डीएसपी स्तर पर चल रही फिजिकल मानिटरिंग में भी बदलाव दिख रहा है। ठेकेदारों में गोलीकांड का डर दूर करने के लिए डीसी, एसपी स्वयं ग्राउंड लेबल पर काम कर रहे हैं। बुधवार सुबह उपायुक्त सोलन विनोद कुमार और पुलिस अधीक्षक सोलन मधुसूदन शर्मा की अगवाई में धर्मपुर लोक निर्माण विभाग विश्राम गृह के प्रांगण में होटलों के अवैध निर्माण गिराने को लेकर रणनीति तैयार की गई। ठेकेदारों को बताया गया कि अवैध निर्माण को पूरी तरह गिराने तक उन्हें पूरी पुलिस प्रोटेक्शन दी जाएगी। इसके साथ ही ठेकेदारों को एक निर्धारित समयसीमा के भीतर अवैध निर्माण गिराने को कहा गया, जिसकी प्रशासन की ओर से रोजना मानिटरिंग भी की जाएगी। धीमी रफ्तार पर प्रशासन द्वारा ठेकेदार से कांट्रैक्ट रद्द करने के प्रावधान की भी जानकारी दी गई। बैठक के बाद विश्राम गृह से दोपहर 12 बजे चार टीमें होटलों के लिए रवाना हुईं गौरतलब है कि कसौली के होटल सात पाइन, होटल शिवालिक, होटल बर्ड व्यू व होटल पाइन व्यू में अवैध निर्माण को गिराने का कार्य ठेकेदारों को दिया गया है। इन चारों होटलों में बड़ी मात्रा तोड़फोड़ होनी है, जिसके लिए एक माह का समय दिया गया है। सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के तहत कसौली में अब तक चार होटल अपने स्तर पर अवैध निर्माण गिरा चुके हैं, जबकि पांच ने प्रशासन से समय लेकर तोड़फोड़ के काम को लगातार जारी रखा है। बाकी के चार होटलों पर प्रशासन की देखरेख में ठेकेदार बुधवार से काम शुरू कर चुके हैं। इस मौके पर टीसीपी अधिकारी लीला श्याम, पोल्यूशन अधिकारी अतुल परमार, अनिल सहित, पीडब्ल्यूडी, पुलिस व राजस्व विभाग के अधिकारी मौजूद रहे।

गंभीरता से होगा काम

उपायुक्त सोलन विनोद कुमार ने कहा कि होटल मालिकों के अवैध निर्माण को जल्द ही गिरा लिया जाएगा। अब केवल चार होटल बचे हैं, जिन पर एक माह में ही एक्शन को पूरा कर लिया जाएगा। इसके लिए ठेकेदारों को प्रशासन हर संभव मदद व सुरक्षा प्रदान कर रहा है।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर-  निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन!

You might also like