गगरेट में दबोचे चरस तस्कर

गगरेट  – मादक द्रव्य पदार्थों की तस्करी के विरुद्ध गगरेट पुलिस द्वारा छेड़े गए विशेष अभियान के तहत पुलिस ने पांच सौ ग्राम चरस के साथ दो युवकों को रंगे हाथ पकड़ा है। पुलिस का दावा है कि उक्त युवक यहां चरस की सप्लाई देने आए थे। पुलिस ने इस बावत मादक द्रव्य पदार्थ अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर आगामी कार्रवाई शुरू कर दी है। पिछले करीब डेढ़ माह में गगरेट पुलिस द्वारा चरस तस्करी का पकड़ा गया यह आठवां मामला है। नशा तस्करों के लिए खौफ का सबब बने सब इंस्पेक्टर अमरीक सिंह दलबल सहित पुराना अंब रोड पर नाका लगाकर जब वाहनों की चैकिंग कर रहे थे तो एक गाड़ी एचपी (21बी-3699) आती दिखाई दी। पुलिस ने जब इस गाड़ी को रोक कर तलाशी लेनी चाही तो गाड़ी में सवार युवक घबरा गए। पुलिस ने जब गाड़ी की गहनता से तलाशी ली तो उसमें से पांच सौ ग्राम चरस बरामद हुई। पकड़े गए युवकों की पहचान दीपक कुमार पुत्र जैसी राम निवासी रोपा राजपूतां तहसील बड़सर व राजेश कुमर पुत्र धनी राम निवासी मकटेरी तहसील बड़सर हमीरपुर के रूप में हुई है। मजेदार बात यह है कि चरस की आगे रिटेल के लिए इसकी छोटी-छोटी पैकिंग तक बनाई गई थी। पुलिस को शक है कि उक्त युवक यहां स्थित उद्योगों में कार्यरत किसी व्यक्ति को ही इसकी सप्लाई करते हैं जो आगे इसकी रिटेल में बिक्री करता है। पुलिस अब उस व्यक्ति तक भी पहुंचने की फिराक में है जहां से इस चरस की सप्लाई हुई थी और पकड़े गए युवकों के सहारे उस रिटेलर तक भी पहुंचना चाहती है जो यहां इसकी रिटेल में बिक्री कर युवा पीढ़ी को नशे की दल दल में धकेल रहा है। सब-इंस्पेक्टर अमरीक सिंह पिछले करीब डेढ़ महीने में ही चरस तस्करी के आठ मामले पकड़ चुके हैं जबकि उपमंडल अंब में अपनी सेवाएं देते हुए अब तक मादक द्रव्य पदार्थों के करीब चालीस मामले पकड़ चुके हैं। नशा माफिया के विरुद्ध चलाई गई इस मुहिम के चलते सब-इंस्पेक्टर अमरीक सिंह की इलाके में भूरि-भूरि प्रशंसा हो रही है। रोड से टी क्लब गगरेट के अध्यक्ष विशाल पुरी ने कहा कि नशा माफिया के विरुद्ध मुहिम छेड़ने वाले सब-इंस्पेक्टर अमरीक सिंह को क्लब शीघ्र सम्मानित करेगा। उधर, डीएसपी मनोज जम्वाल ने बताया कि पुलिस ने पांच सौ ग्राम चरस के साथ दो युवकों को गिर तार किया है। इन्हें न्यायालय में पेश कर इनका पुलिस रिमांड हासिल करने का प्रयास किया जाएगा।

You might also like