दुश्‍मनी के बीच इतर गऊओं के बीच कतर

खाड़ी संकट शुरू होने के बाद कतर के अरब पड़ोसियों ने नाकेबंदी कर जरूरी सामान की सप्लाई तक बंद कर दी थी। दूध के लिए सऊदी से होने वाली सप्लाई ही सहारा थी, लेकिन वह भी रोक दी गई

कतर और सऊदी अरब की दुश्मनी में अभी तक सबसे अधिक चर्चा टीवी चैनल अलजजीरा की होती रही है। अब इन दोनों देशों के सबंधों में गायों को लेकर खूब चर्चा हो रही है। गाय कतर में जीत, संघर्ष और स्वाभिमान का नया प्रतीक बनकर उभरी है। सऊदी अरब ने खुन्नस के कारण कतर  की घेराबंदी कर दी थी। उसे आशा थी कि इसके कारण यह देश घुटने टेक देगा,पर हुआ इसके उलट । इस अमीर देश में एक डेयरी तक नहीं थीं। सऊदी ने विवाद के चलते सप्लाई बंद की तो यहां गायों के एयरकंडीशंड बाड़े खुल गए। जहां दूध निकालने के लिए मशीनें लगी हुई हैं। ज्यादातर अमरीका के कैलिफोर्निया, अरिजोना और विस्कॉनसिन से लाई गई हैं। टकराव के कारण  कतर के अरब पड़ोसियों ने नाकेबंदी कर जरूरी सामान की सप्लाई तक बंद कर दी थी। दूध के लिए सऊदी से होने वाली सप्लाई ही सहारा थी, लेकिन वह भी रोक दी गई। हालांकि, कतर इन हालात से भी आगे निकल गया। इस संकट के महीने भर बाद ही कतर एयरवेज की फ्लाइट के जरिए गायों की पहली खेप यहां पर लाई गई। पिछले साल जून में ही कतर से सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात, बहरीन और मिस्र ने सभी कूटनीतिक, व्यापारिक और ट्रांसपोर्ट लिंक तोड़ लिए थे। इन्होंने कतर पर उग्रवाद के समर्थन, क्षेत्रीय अस्थिरता फैलाने और अरब देशों के कट्टर दुश्मन ईरान के साथ नजदीकी संबंध बढ़ाने का आरोप लगाया था। हालांकि, तमाम पाबंदियों और नाकेबंदियों के बाद कतर ने झुकने से इनकार कर दिया। कतर ने इसे संप्रभुता को दी गई चुनौती के तौर पर देखा और इससे बाहर निकलने में लग गया। कतर  ने आर्थिक नाकेबंदी से उबरने के लिए कई और रास्ते भी निकाले। उसने कई अरब डॉलर की लागत से एक बंदरगाह तैयार किया, ताकि इसके जरिए 2022 के फुटबॉल वर्ल्डकप के लिए स्टेडियम तैयार किए जा सकें और बिल्डिंग मैटीरियल मंगाया जा सके। इस दौरान कतर की नजदीकी ईरान से भी बढ़ी। दोनों देशों की समुद्री सीमा लगती है। वहीं कतर के प्लेन भी ईरान के ही एयरस्पेस से होकर गुजरते हैं। कतर के फॉरेन मिनिस्टर के मुताबिक, ईरान हमारा पड़ोसी है। उसके साथ सहयोग और संवाद रखना ही है हालांकि, इस नाकेबंदी और अरब देशों से दुश्मनी के चलते कतर में देशभक्ति की खुमारी चढ़ गई है। नागरिक यह मान रहे हैं कि कतर अब बेहतर स्थिति में है और उसे झुकना नहीं चाहिए ।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर-  निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन!

You might also like