धुंध के आगोश में हिल्स क्वीन

मिस्ट के चलते दिन भर छाया रहा अंधेरा, उमस से लोगों के खूब छूटे पसीने

शिमला  – हिल्स क्वीन गुरुवार को दिनभर मिस्ट (धुंध) के आगोश में रहा। जिलाभर में मिस्ट के घिरने से जनता को उमस भरी गर्मी के थपेड़े सहन करने पड़े। जिला के अधिकतर क्षेत्र सुबह से शाम तक मिस्ट (धुंध) से घिरे रहे, जिससे आम जनता सहित विशेषकर श्वास रोगियों को भारी दिक्कतें झेलनी पड़ीं। हालांकि शिमला में सुबह के समय मौसम साफ बना रहा, मगर सुबह 9.30 बजे के करीब मिस्ट (धुंध) घिरनी शुरू हो गई। 11 बजे के करीब मिस्ट का प्रकोप काफी अधिक बढ़ गया था, जिसके चलते विजिबिलिटी कम हो गई थी।

क्या होती है मिस्ट

मिस्ट (धुंध) धूल व पानी के कण होते हैं जो हवाओं के तेज प्रभाव के चलते वातावरण में फैल जाते हैं। इससे वातावरण में उमस बढ़ जाती है, जो गर्मी बढ़ने का कारण रहता है। मिस्ट के चलते जहां गर्मी बढ़ती है, वहीं इससे विजिबिलिटी भी कम हो जाती है।

श्वास रोगियों के लिए नुकसानदायक

मिस्ट श्वास रोगियों के लिए नुकसानदायक है। श्वास रोगियों के स्वास्थ्य पर इसका दुष्प्रभाव पड़ सकता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार श्वास रोगी इस समय एहतियात बरतें। ऐसे मौसम में ज्यादा खुले प्रवेश में न निकलें। इससे अधिक से अधिक बचाव करें।

बारिश के बाद ही मिलेगी राहत

मौसम विभाग के निदेशक डा. मनमोहन सिंह ने बताया कि मिस्ट (धुंध) का प्रकोप काफी अधिक रहता है। जब तक मौसम शुष्क रहेगा तब तक मिस्ट (धुंध) का प्रकोप जारी रहेगा। बारिश होने के बाद ही मिस्ट से जनता को छुटकारा मिल पाएगा।

शिमला में आज से बारिश-ओलावृष्टि

मौसम विभाग की जारी चेतावनी के तहत जिला शिमला में आगामी तीन दिन मौसम कड़े तेवर दिखाएगा। विभाग की चेतावनी के तहत जिला शिमला में 15 से 17 जून तक एक-दो स्थानों पर प्रचंड आंधी के साथ बारिश-ओलावृष्टि होगी। जिला शिमला में 20 जून तक मौसम खराब बना रहेगा।

You might also like