बादल फटा…औरा में बहे खेत-मवेशी

 भरमौर —जनजातीय उपमंडल भरमौर की ग्राम पंचायत औरा में मंगलवार शाम को बादल फटने से लाखों रुपए की चपत लगी है। किसानों की फसलें तबाह हो गई है और उपजाऊ भूमि भी नाले के रूप में तबदील हो गई है। ग्रामीणों के आधा दर्जन के करीब मवेशी बह गए और कुछ लापता है। बहरहाल मौके पर पहुंची प्रशासन की टीम ने नुकसान का जायजा ले लिया है और आरंभिक रिपोर्ट एसडीएम भरमौर को सौंप दी है। राजस्व के तौर पर नुकसान का आकलन किया जा रहा है। खबर की पुष्टि एसडीएम भरमौर पीसी सिंह ने की है। मंगलवार शाम को पंचायत के औरा और छतराण गांव के पास बादल फटने के चलते भारी नुकसान हुआ है। बताया जा रहा है कि अचानक बादल फटने के बाद यहां स्थित नाले में पानी का जलस्तर बढ़ गया और खेतों में भी नाले बहने लगे। देखते ही देखते किसानों की मक्की समेत गंदम की फसलें इसकी चपेट में आकर तहस-नहस हो गई, जबकि ग्रामीणों के मवेशी भी इसकी जद में आकर बह गए। जिनके शव बुधवार को मलबे से बरामद कर लिए गए है। रात को ही उपमंडलीय प्रशासन को इसकी सूचना मिल गई थी।  लिहाजा एसडीएम भरमौर ने बुधवार को नायब तहसीलदार भरमौर की अगवाई में एक टीम मौके की ओर भेजी। टीम ने पंचायत में हुए नुकसान का जायजा लेकर आरंभिक रिपोर्ट एसडीएम भरमौर को सौंप दी है। रिपोर्ट के मुताबिक औरा गांव के किशोरी लाल पुत्र रूजगारी राम की एक गाय, हुकमी पुत्र चंद राम की दो गाय, महिंद्र कुमार पुत्र संत राम का एक बैल और छतराण गांव की चिंगो देवी पत्नी कोडू राम का घराट बह गया है, जबकि किशोरी लाल, तिलक राज पुत्र शिविया राम और सुभाष कुमार की एक-एक गाय, एक खच्चर और दो भेड़े लापता हो गई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि औरा मुहाल के तहत आने वाले ग्रामीणों की मक्की और गंदम की फसल पूरी तरह से नष्ट हो गई है। साथ ही गांव की बावडी, पनिहार और नलके भी बादल फटने के कारण तहस-नहस हो गए है। इसके अलावा ढकोग-औरा संपर्क मार्ग पर भी भारी नुकसान पहुंचा है। उधर, एसडीएम भरमौर पीपी सिंह का कहना है कि मौके पर गई टीम लौट आई है और रिपोर्ट सौंप दी गई है। उन्होंने कहा कि पीडि़तों को प्रशासन की ओर से फौरी राहत प्रदान की जा रही है। उन्होंने कहा कि गांव की बिजली व्यवस्था दुरुस्त है। उन्होंने कहा कि पीडि़त परिवारों को

सरकार के नियमानुसार राहत प्रदान की जाएगी।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर-  निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन!

You might also like