ब्राजील सबसे बड़ा दावेदार

सर्वे में दावा, इस बार नेमार की टीम छठा वर्ल्डकप जीत खत्म कर सकती है 16 साल का सूखा

मॉस्को— फीफा फुटबाल वर्ल्डकप-2018 के लिए अटकलें तेज हैं कि इस बार कौन सी टीम चैंपियन बनेगी? एक सर्वे के मुताबिक इस बार ब्राजील खिताब की प्रबल दावेदार है। उसने आखिरी बार 2002 में खिताब जीता था और सर्वे के मुताबिक इस बार वह 16 साल का खिताबी सूखा खत्म कर सकता है। ग्रुप सर्वे के मुताबिक ग्रुप मैचों में भी ब्राजील का दबदबा रहेगा। इसके अनुसार ब्राजील के जीतने की 21 फीसदी और सबसे अधिक 90 फीसदी दूसरे दौर में पहुंचने की संभावना है। सर्वे की मानें तो ब्राजील के अलावा सभी बड़ी टीमें नॉकआउट दौर में पहुंचेगी। नेमार की टीम को इसलिए फिर से खिताब का दावेदार माना जा रहा है, क्योंकि पिछले कुछ सालों से टीम का प्रदर्शन बेहतरीन रहा है। नेमार भले पिछले तीन माह से चोटिल रहे, लेकिन वह फार्म में खेल रहे थे। वहीं, नेमार और कोच टिटे की जुगलबंदी अभी तक कमाल की रही है। 2016 में टीटे के नए कोच का पद संभालने के बाद ब्राजील की टीम में जबरदस्त बदलाव देखने को मिला है। उनके मार्गदर्शन में टीम ने लगातार नौ मैच जीतकर वर्ल्ड कप के लिए क्वालिफाई किया। यही नहीं, पिछले चार सालों में ब्राजील की टीम ने सिर्फ चार मैच गंवाए हैं। वहीं, ब्राजील की टीम फीफा विश्व रैंकिंग में दो नंबर पर है। ब्राजील ने सात बार फीफा वर्ल्ड कप के फाइनल में जगह बनाई है। ब्राजील की टीम ने सबसे ज्यादा 20 बार वर्ल्ड कप में हिस्सा लिया है।

डायमंड शेप पसंद, छोटे पास देने में माहिर

ब्राजील की टीम डायमंड शेप में खेलना पसंद करती है, यानी की छोटे-छोटे पास के साथ खेलती है। इनकी कोशिश होती है कि गेंद विरोधी खिलाडि़यों के पास नहीं जाए। हालांकि, ब्राजील की टीम मैच के दौरान खिलाडि़यों को स्विच करने में यकीन नहीं करती है, यानी कि खिलाडि़यों की पोजिशन आपस में नहीं बदलती है।

टीम की मजबूती ऐसी

ब्राजील का आक्रमण विश्वकप में किसी भी टीम के लिए मुश्किल का सबब बन सकता है। मैदान पर नेमार, किटिन्हो, कैसेमीरो, मार्सेर्लो, फिर्मिनो और गेब्रियल जीसस की मौजूदगी किसी भी टीम के डिफेंस को भेदने में सक्षम है।

विश्वकप से पहले हाथियों का मैच

आयुथाया(बैंकाक) — दुनियाभर में फीफा विश्वकप के खुमार के बीच थाईलैंड की प्राचीन राजधानी आयुथाया में मंगलवार को हाथियों के बीच हुए फुटबाल मैच ने स्थानीय दर्शकों को रोमांचित किया और साथ ही अवैध सट्टे के खिलाफ भी जागरूक किया। नौ हाथियों ने रूस में 14 जून से शुरू होने वाले विश्वकप में हिस्सा लेने वाले नौ देशों के ध्वज के रंग के साथ फुटबाल खेला और गेंद को एक दूसरे को पास किया। यह मैच हाथियों और स्थानीय स्कूल के बच्चों के बीच 15 मिनट तक चला।

रूस की टिकट बुक करवाने वालों में 66 फीसदी अमरीकी

बर्लिन — अमरीका की फुटबाल टीम भले ही फीफा विश्वकप-2018 के लिए क्वालिफाई नहीं कर पाई हो, लेकिन रूस में सबसे ज्यादा अमरीकी पहुंचेंगे। टिकटों की बुकिंग डाटा के अनुसार अमरीका से रूस जाने के लिए 66 फीसदी लोगों ने टिकट बुक कराई है।

इस बार बॉल गर्ल

एग्रिज — रूस में गुरुवार से शुरू होने जा रहे फुटबाल विश्वकप  के ओपनिंग मुकाबले में इस बार प्रथा बदलते हुए लड़कों के बजाय 14 रूसी लड़कियां ‘बॉल गर्ल’ की भूमिका में उतरेंगी, जो फीफा टूर्नामेंट के इतिहास में पहला मौका होगा।

जर्मनी के रास्ते की बाधा रहेगा इतिहास

मॉस्को —विश्वकप में यदि अपना खिताब बरकरार रखना है तो उसे इतिहास की बाधा को पार करना होगा। विश्वकप का 1930 से अब तक का इतिहास गवाह है कि अब तक सिर्फ दो ही देश इटली और ब्राजील चैंपियन बनने के बाद अगले विश्वकप में अपना खिताब बरकरार रखने में कामयाब रहे हैं। इटली ने 1934 में खिताब जीता और इसे 1938 के विश्वकप में बरकरार रखा। इसके बाद कोई टीम ऐसा नहीं कर पाई।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर-  निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन!

You might also like