ब्‍यूटीफुल सिटी चंडीगढ़

पंजाब और हरियणा की राजधानी चंडीगढ़ भारत के सबसे खूबसूरत और नियोजित शहरों में एक है। इस केंद्र शासित प्रदेश को प्रसिद्ध फ्रांसीसी वास्तुकार ली कोर्बूजिए ने अभिकल्पित किया था। इस शहर का नाम एक दूसरे के निकट स्थित चंडी मंदिर और गढ़ किले के कारण पड़ा, जिसे  चंडीगढ़ के नाम से जाना जाता है। शहर में बड़ी संख्या में पार्क और अन्य दर्शनीय स्थल हैं, जिनमें जाकिर हुसैन रोज गार्डन,  रॉक गार्डन और सुखना झील प्रमुख दर्शनीय स्थलों में एक है। अन्य घूमने लायक जगहों में लेसरवैली, राजेंद्र पार्क, बोटेेनिकल गार्डन, स्मृति उपवन, टेस्ड गार्डन और शांति कुंज इत्यादि हैं…

रॉक गार्डन

क्या तुमने कभी ऐसे गार्डन के बारे में सुना है जहां केवल कचरे और बेकार की वस्तुओं से बनी मूर्तियां और कलाकृतियां देखने को मिलें। जी हां, हम बात कर रहे हैं चंडीगढ़ स्थित रॉक गार्डन की जिसे 1958 में नेकचंद जी ने बनाया था। रॉक गार्डन चंडीगढ़ के सेक्टर एक में स्थित है। यह गार्डन चंडीगढ़ शहर का एक प्रमुख और चर्चित पर्यटक स्थल है, जिसे नेकचंद रॉक गार्डन के नाम से भी जाना जाता है। हर साल देश- विदेश से हजारों पर्यटक इस गार्डन को देखने आते हैं। सुंदर मूर्तियों तथा विचित्र कलाकृतियों से सजे कई एकड़ क्षेत्र में फैले इस सुंदर गार्डन की रचना का कम नेकचंद ने  1957 में गुपचुप तरीके से प्रसिद्ध सुखना झील के पास एक छोटी-सी पथरीली घाटी में शुरू किया था। वह उस समय सरकारी कर्मचारी थे तथा अपने फालतू समय का प्रयोग अपने शौक को पूरा करने के लिए  करते थे। वह शहर भर का कबाड़ जैसे पुराने बिजली के स्विच, मोजैक, टाइल, टूटी- फूटी चूडि़यां  आदि  बीन कर लाते थे तथा उसे शानदार कलाकृति में ढाल देते थे। 1975 में जब चंडीगढ़ शासन के अधिकारियों को इसका पता चला, तब उस स्थान पर कई तमाम कलाकृतियां बन चुकी थीं। सकरार इसे हटाना चाहती थी, लेकिन शहर के प्रबुद्ध नागरिकों ने इसे अनुपम कला मानते हुए इसे न हटाने की गुहार  लगाई। 1976 में इस स्थान को रॉक गार्डन नाम से खोला गया और इसके रचनाकार नेकचंद को इस कला को और  फैलाने के लिए 50 मजदूरों को उनके सुपुर्द किया गया। आज शानदार झरनों, कलाकृतियों, मूर्तियों से सजा यह गार्डन पूरे विश्व से पर्यटकों को अपनी ओर खीचता है। 1976 से अब तक लगभग कई करोड़ पर्यटक यहां आ चुके हैं। मूर्तियों के अलावा इस गार्डन में भवन के कचरे, खाने के कांटे, खेलने को गोलियां और टेराकांटा बरतन को मनुष्यों व  चीजों के आकार में दिखाया गया।

जाकिर हुसैन रोज गार्डन

जाकिर हुसैन रोज गार्डन को चंडीगढ़ की सबसे खूबसूरत जगहों मे ंसे एक माना जाता है। यहां गुलाब की 1600 से भी अधिक किस्में देखी जा सकती हैं। गार्डन को बहुत खूबसूरती से डिजाइन किया गया है। अनेक प्रकार के रंगीन फव्वारे इसकी सुंदरता में चार चांद लगाते हैं।

सुखना झील

सुखना झील चंडीगढ़ में हिमाचल की शिवालिक पहाडि़यों की तलहटी में स्थित एक सरोवर है। यह झील 1958 में 4 किमी क्षेत्र में बरसाती झील सुखना खड्ड़ (चोअ) को बांधकर बनाई गई थी। पहले इसमें सीधा बरसाती पानी गिरता था और इस कारण बहुत सी गार इसमें जमा हो जाती थी। 1974 में इसमें  चोअ के पानी को दूसरी तरफ मोड़ दिया गया और  प्रचुर हरियाली से घिरी हुई शिवालिक रेंज की  तलहटी में एक शांत जलाशय सुखना झील का दिव्य परिदृश्य चंडीगढ़ का सबसे लोकप्रिय पर्यटक आकर्षण है।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर-  निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन!

You might also like