शास्त्रीय संगीत की धुन पर झूमा टांडाऑडिटोरियम

कांगड़ा   सामाजिक सांस्कृतिक एवं पर्यावरण चेतना संस्था संवेदना द्वारा केंद्रीय छात्र परिषद टीएमसी तथा हिमाचल शास्त्रीय संगीत परिषद के संयुक्त तत्त्वावधान में सरदार सोभा सिंह ऑडिटोरियम टांडा में विश्व संगीत दिवस पर संगीत संध्या त्रिविधा का आयोजन किया गया। संगीत संध्या में टांडा महाविद्यालय के प्राचार्य डा. भानु अवस्थी ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। कार्यक्रम में याचना शर्मा ने राग बागेश्वरी, करण परदेसी ने राग मियां मल्हार में शास्त्रीय गायन प्रस्तुत किया। डा. अमरजीत सिंह ने तबला एकल वादन प्रस्तुत किया। अधिवक्ता विनोद सोनी ने जो कि अपने शास्त्रीय गायन के लिए भी जाने जाते हैं। प्रथम बार बांसुरी वादन में राग यमन प्रस्तुत कर सभी श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया। इसके पश्चात नगरोटा महाविद्यालय में संगीत सह-आचार्य पद पर कार्यरत डा. सुरेश शर्मा ने अपने शास्त्रीय गायन में राग रागेश्वरी में ख्याल, राग मिश्र भैरवी में ठुमरी तथा भजन प्रस्तुत कर उपस्थित श्रोताओं को भाव विभोर कर दिया। कार्यक्रम के अंत में थिरकन नाट्यशाला शिमला के कलाकारों में डा. पवन, अक्षिता धीमान और वंदना शर्मा ने अदभुत कत्थक नृत्य प्रस्तुत कर माहौल को दिव्य कर दिया। संगीत कलाकारों में डा. लाल चंद ने गायन एवं हारमोनियम, अमित ने तबला, गुंजन चन्ना ने वायलिन पर सुमधुर एवं संयोजित संगति कर अपनी कला का प्रस्तुतिकरण किया। कार्यक्रम में प्रदेश के शास्त्रीय संगीत परिषद के अध्यक्ष अजय शर्मा, सचिव संतोष शर्मा, अतिरिक्त वरिष्ठ सदस्य रमेश सोनी, संतोष धीमान, महेश नाग एवं संगठन मंत्री घनश्याम वर्मा इत्यादि भी उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संयोजन अधिवक्ता विनोद सोनी ने किया, जिन्होंने लुप्त हो रही भारतीय शास्त्रीय संगीत की पुरात्न धरोहर को सहेज रखने का बीड़ा उठाया है।

You might also like