1 दिन में 1 000 सैलानी जा सकेंगे त्रियूंड

धर्मशाला – विश्व प्रसिद्ध ट्रैकिंग स्थल त्रियूंड में कारोबारियों और पर्यटकों की मनमानी अब ज्यादा दिन नहीं चल सकेगी। ईको टूरिज्म सोसायटी ने एक दिन में डे-ट्रैकिंग के लिए त्रियूंड जाने वाले पर्यटकों की संख्या एक हजार करने की योजना बना ली है। डे-ट्रैकिंग पर जाने वाले पर्यटकों से सोसायटी द्वारा ग्रीन टैक्स के रूप में 50 रुपए वसूले जाएंगे। वहीं, त्रियूंड में ट्रैकिंग कर रात्रि ठहराव करने वाले पर्यटकों की संख्या 200 निर्धारित की जाएगी, जिन्हें ट्रैकिंग एजेंसियों से ही टैंट की बुकिंग करवाने के ही पैसे लगेंगे। रात्रि ठहराव करने वाले पर्यटकों को चैक पोस्ट में 50 रुपए नहीं देने पड़ेंगे। सोसायटी द्वारा जल्द ही मकलोडगंज-धर्मकोट के गलूं माता मंदिर में चैक पोस्ट तैयार की जाएगी। इसमें रजिस्ट्रेशन के बाद ही निर्धारित पर्यटकों को ट्रैकिंग पर जाने की परमिशन प्रदान की जाएगी। इसके बाद पर्यटकों को उचित टायलट और कारवेज डस्टबिन की सुविधा भी उपलब्ध करवाई जाएगी। पर्यटन नगरी धर्मशाला-मकलोडगंज में अवैध कारोबार सहित पर्यटकों की मनमानी के कारण धौलाधार की खूबसूरती को भी बर्बाद किया जा रहा था। इसके बाद प्रदेश की अग्रणी मीडिया ग्रुप ‘दिव्य हिमाचल ने अपने विभिन्न अंकों में लगातार समाचार को प्रमुखता से प्रकाशित किया। इतना ही नहीं, पर्यटन सहित प्रकृति को पहुंचाए जा रहे नुकसान के बारे में भी लोगों, सरकारों और विभागों तक बात पहुंचाई। इसके बाद अब टूरिज्म सोसायटी ने जल्द ही त्रियूंड में व्यवस्थाएं सुधारने के लिए युद्ध स्तर पर कार्य शुरू कर दिया है।

मनमर्जी से नहीं होगा नाइट स्टे

ट्रैकिंग के दौरान रात को स्टे करने वाले पर्यटकों की संख्या एक दिन में केवल 200 कर दी जाएगी। इससे पहले पर्यटक अपनी मनमर्जी से ट्रैकिंग के दौरान रुकते थे। अब नाइट टै्रकिंग करने वालों को रजिस्ट्रड ट्रैकरों से बुकिंग की स्लिप दिखाने पर ही प्रवेश प्रदान किया जाएगा। गौरतलब है कि मौजूदा समय में त्रियूंड में ट्रैकिंग करने के लिए वीकेंड में 1500 से दो हजार तक के पर्यटक पहुंच रहे हैं। इतना ही नहीं, सैकड़ों की संख्या में रात्रि ठहराव करने वाले पर्यटकों के लिए सैकड़ों टैंट भी मनमर्जी से अवैध तरीके से लग रहे थे। लेकिन अब सोसायटी की चैक पोस्ट तैयार होने से बड़ी राहत मिल सकेगी।

टूरिस्ट सोसायटी लगाएगी सोलर लाइट

त्रियूंड में सफाई व्यवस्था बनाए रखने के लिए अब बायो शौचालय स्थापित किए जाएंगे। गौरतलब है कि आधा दर्जन टायलट पर ताले लटकने का समाचार ‘दिव्य हिमाचल’ ने प्रमुखता से प्रकाशित किया था। वहीं, धौलाधार की साफ-सुथरी वादियों में अब गंदगी के डेर भी नजर नहीं आएंगे। पर्यटकों को चैक पोस्ट पर ही कूड़ा डालने के लिए बैग प्रदान किया जाएगा, साथ ही कूड़ेदान की सही लोकेशन भी बताई जाएगी। वहीं,  पर्यटकों की सुविधा के लिए अब टूरिज्म सोसायटी सोलर लाइट लगवाने की भी योजना बना रही है।

You might also like