1078 कंडक्टर तैनात 157 के दस्तावेज अधूरे

शिमला— हिमाचल पथ परिवहन निगम ने परिचालक भर्ती (टीएमपीए) उत्तीर्ण 1078 परिचालकों को तैनाती दे दी है। गुरुवार को परिवहन निगम ने इनकी तैनाती के आर्डर जारी कर दिए हैं, जबकि अभी भी 157 परिचालकों की तैनाती वेरिफिकेशन के फेर में फंसी हुई है। इसके चलते उनकी तैनाती नहीं की गई है। उनके पूर्ण दस्तावेज खंगालने के पश्चात ही उनकी तैनाती पर फैसला होगा। बताते चलें कि पथ परिवहन निगम में टीएमपीए भर्ती में 1235 अभ्यर्थियों ने परीक्षा उत्तीर्ण की थी, मगर इसमें कुछ उत्तीर्ण अभ्यर्थी ऐसे पाए गए हैं, जिनके पास उनके पूर्ण दस्तावेज नहीं हैं। इसके चलते करीब 157 परिचालकों को तैनाती नहीं मिल पाई है। एचआरटीसी में टीएमपीए भर्ती के लिए अभ्यर्थियों के कैटेगरीवाइज आवेदन किया था। सभी अभ्यर्थियों को कैटेगरीवाइज अंक भी प्रदान किए गए, मगर परिणाम घोषित करने के पश्चात कुछ ऐसे प्रत्याशी पाए गए हैं, जिन्होंने अपनी श्रेणी के लाभ लेने के लिए फार्म में दिए गए कॉलम तो भर दिए, लेकिन उनके पास अपने प्रमाण पत्र नहीं हैं। कुछ अभ्यर्थियों ने स्पोर्ट्स कोर्ट के तहत आवेदन किया है, लेकिन उनके पास स्पोर्ट्स कोटे के तहत शर्तों के मुताबिक प्रमाण पत्र नहीं हैं। जानकारी के तहत कुछ ऐसे भी अभ्यर्थी हैं, जिन्होंने एक्स-सर्विसमैन के तहत आवेदन किया है, जबकि वह इस कैटेगरी से नहीं हैं। इसके चलते 157 ऐसे अभ्यर्थी हैं, जिनके दस्तावेज पूरे न होने पर तैनाती नहीं दी गई है। निगम कार्यकारी निदेशक डा. अश्वनी शर्मा ने बताया कि 1235 में से 1078 परिचालकों को विभिन्न डिपुओं में तैनाती दे दी गई है, जबकि 157 अभ्यर्थियों के दस्तावेज पूर्ण न होने के चलते उन्हें तैनाती नहीं दी गई है। इनके दस्तावेजों की री-वेरिफिकेशन होगी। गुरुवार को घोषित टीएमपीए के परिणाम की विस्तृत जानकारी एचआरटीसी की वेबसाइट पर भी अपलोड की गई है। अभ्यर्थी इस तैनाती को लेकर जारी किए गए परिणाम की जानकारी वेबसाइट से हासिल कर सकता है। टीएमपीए के तहत जिन अभ्यर्थियों  को डिपो वाइज तैनाती दी गई है, उन्हें विभिन्न डिपुओं में ही ज्वाइनिंग के बाद ट्रेनिंग दी जाएगी। प्रशिक्षण पूरा होने के बाद ही इन्हें बसों में चढ़ाया जाएगा।

शिक्षा विभाग में 600 टीजीटी रेगुलर

शिमला — हिमाचल के सरकारी स्कूलों में लंबे समय से नियमिति करण के इंतजार में बैठे टीजीटी शिक्षकों के लिए राहत भरी खबर है। शिक्षा विभाग ने  600 टीजीटी शिक्षकों को नियमित करने की अधिसूचना गुरुवार को जारी की है।शिक्षा विभाग ने तीन साल का अनुबंध कार्यकाल पूरा करने वाले टीजीटी शिक्षकों को नियमितीकरण का तोहफा प्रदान किया है। उल्लेखनीय है कि पहली अप्रैल से इन शिक्षकों को नियमित किया जाना था, लेकिन सरकार ने तीन वर्ष का कार्यकाल पूरा करने वाले कर्मचारियों को इस बार में देरी से नियमित करने के आदेश दिए थे। इसके बाद शिक्षा विभाग ने भी इस प्रक्रिया में काफी समय लगाया हैं, जिससे नियमित होने वाले कर्मचारियों व शिक्षकों को वित्तीय नुकसान उठाना पड़ा है। बता दें कि राजकीय अध्यापक संघ ने भी तीन साल का कार्यकाल पूरा कर चुके शिक्षकों को नियमित करने के लिए शिक्षा विभाग को दो दिन का अल्टीमेट दिया था।  इससे पहले ही विभाग ने नियमित हुए शिक्षकों की सूची जारी की दी है। शिक्षा विभाग की ओर से जारी की गई नियमितीकरण की अधिसूचना से टीजीटी शिक्षकों में खुशी की लहर है। शिक्षकों ने शिक्षा विभाग ओर सरकार का धन्यवाद किया है।

You might also like