अमरीका-चीन विवाद गहराने से विदेशी बाजार धराशाई

नई दिल्ली— चीन के 200 अरब डालर के उत्पादों पर आयात शुल्क लगाने की अमरीका की नई धमकी से अंतरराष्ट्रीय पटल पर एक बार फिर उथल-पुथल मच गई है। अमरीका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की अनिश्चित नीतियों से निवेशकों का भरोसा डगमगाने लगा है, जिससे यूरोपीय बाजारों के साथ अधिकतर एशियाई बाजार भी बुधवार को धराशायी हो गए। चीन ने अमरीका पर आरोप लगाया है कि अमरीका टैरिफ की आड़ में उसे डरा धमका रहा है। चीन ने साथ ही यह भी चेतावनी दी है कि अगर ट्रंप प्रशासन ने उसके 200 अरब डालर के उत्पाद पर 10 प्रतिशत का आयात शुल्क लगाने की धमकी का पालन किया तो उसे करारा जवाब दिया जाएगा। निवेशक विश्व की दो आर्थिक महाशक्तियों के बीच जारी इस लड़ाई से चिंतित हैं और उन्हें आशंका है कि इससे वैश्विक विकास अवरुद्ध होगा और कारोबारी धारणा कमजोर पड़ेगी। एशियाई बाजारों में चीन का शंघाई कंपोजिट 1.83, मलेशिया का बुरसा मलेशिया 0.06, दक्षिण कोरिया का कोस्पी 0.59, जापान का निक्की 1.19 और हांगहांग का हैंगशैंग 1.53 प्रतिशत की गिरावट में बंद हुआ।

You might also like