अर्थव्यवस्था के अच्छे दिन

फ्रांस को पछाड़ कर दुनिया की छठी सबसे बड़ी इकॉनोमी बना भारत

पेरिस— विकास के दम पर भारतीय अर्थव्यवस्था ने ऊंची उड़ान भरी है। फ्रांस को सातवें पायदान पर पीछे छोड़ते हुए भारत अब दुनिया की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया है। विश्व बैंक के 2017 के अपडेटिड डाटा में इसकी जानकारी दी गई है। इसके मुताबिक, भारत की जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद) पिछले साल के आखिर में 2.597 ट्रिलियन डालर थी, जबकि फ्रांस की 2.582 ट्रिलियन डालर। कई तिमाहियों की मंदी के बाद भारत की अर्थव्यवस्था जुलाई 2017 से फिर से मजबूत होने लगी। बता दें कि भारत की आबादी इस समय एक अरब 34 करोड़ है और यह दुनिया का सबसे आबादीवाला मुल्क बनने की दिशा में अग्रसर है। फ्रांस की आबादी छह करोड़ सात लाख है। हालांकि आंकड़ों के अनुसार प्रति व्यक्ति आय के मामले में भारत फ्रांस से कई गुना पीछे है। नोटबंदी और जीएसटी (माल एवं सेवा कर) के कारण दिखे ठहराव के बाद पिछले साल मैन्युफेक्चरिंग और उपभोक्ता खर्च में आई तेजी भारतीय अर्थव्यवस्था को रफ्तार देने के प्रमुख कारक रहे। एक दशक में भारत की जीडीपी दोगुनी हो चुकी है और संभावना जताई जा रही है कि चीन की रफ्तार धीमी पड़ सकती है, जिससे भारत एशिया की प्रमुख आर्थिक ताकत के तौर पर उभर सकता है। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के अनुसार, इस साल भारत की ग्रोथ 7.4 फीसदी रह सकती है और कर सुधार एवं घरेलू खर्चे के चलते 2019 में भारत की विकास दर 7.8 फीसदी पहुंच सकती है। वहीं, दुनिया की औसत विकास दर के 3.9 फीसदी रहने का अनुमान जताया गया है। लंदन स्थित कंसल्टेंसी फर्म सेंटर फॉर इकॉनोमिक्स एंड बिजनस रिसर्च ने पिछले साल के आखिर में कहा था कि जीडीपी के लिहाज से भारत ब्रिटेन और फ्रांस दोनों को पीछे छोड़ देगा। यही नहीं, 2032 तक भारत के दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यव्था बनने की भी संभावना जताई गई है। 2017 के आखिर में ब्रिटेन 2.622 ट्रिलियन की जीडीपी के साथ दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था था। आपको बता दें कि इस समय अमरीका दुनिया की टॉप अर्थव्यवस्था है। उसके बाद चीन, जापान और जर्मनी का नंबर आता है।

You might also like