एचआरटीसी की बस पलटी, 18 जख्मी

 चढियार-जयसिंहपुर-लंबागांव  —चढियार  से जयसिंहपुर जा रही एचआरटीसी की बस शनिवार को गांव मुगला के पास अनियंत्रित होकर दुर्घटनाग्रस्त हो गई। एचआरटीसी की पालमपुर डिपो की बस चढियार से जयसिंहपुर के लिए दोपहर 2ः10 पर निकली। अभी चार किलोमीटर का ही सफर तय किया था कि गांव मुगल के पास तीखे मोड़ में अनियंत्रित होकर ढांक से लुढ़क गई। जिसमें लगभग डेढ़ दर्जन सवारियां घायल हो गई। इसमें चार की हालत गंभीर बताई जा रही है। दुर्घटना के तुरंत बाद स्थानीय गांव वासियों के सहयोग से घायलों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चढियार  लाया गया। प्राथमिक उपचार के बाद चार घायलों को टांडा रेफर कर दिया गया। एक घायल को सिविल अस्पताल पालमपुर भेजा गया है, जबकि एक का उपचार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चढियार  में चल रहा है। घायलों में देशराज 50 पुत्र शोकी राम गांव चंबी जयसिंहपुर, प्रदीप कुमार 43  पुत्र शंकर राम गांव चंबी जयसिंहपुर, बबीता देवी 36  पत्नी प्रदीप कुमार गांव चंबी जयसिंहपुर, शिवम कुमार पुत्र विजय कुमार उम्र 11 साल गांव अपर लंबागांव को टांडा रेफर कर दिया है, जबकि उर्मिला देवी पत्नी ईश्वरदास उम्र 60 गांव लंबागांव को पालमपुर रेफर किया गया है, कृष्णा देवी पत्नी हंसराज उम्र 28 साल गांव चंबी जयसिंहपुर, हर्षिता पुत्री हंसराज गांव चंबी जयसिंहपुर, आदित्य पुत्र हंस राज गांव चंबी जयसिंहपुर, चालक प्रताप  चंद, परिचालक संसार चंद को मामूली चोटें आई हैं। वहीं मामूली रूप से घायल चंचला देवी पत्नी रोशन गांव संधोल जयसिंहपुर, सपना देवी 30 पत्नी विजय कुमार गांव लंबागांव, अयोध्या देवी पत्नी सोहन गांव बजोट जयसिंहपुर, पवना देवी 46 पत्नी पुरुषोत्तम गांव लांबागांव, फूलन देवी 48 पत्नी मनोहर लंबागांव, सहजीद  अहमद  उम्र 20 साल उत्तर प्रदेश, उमेश 25  उत्तर प्रदेश, मोहम्मद अकरम 35 उत्तर प्रदेश, फराज अहमद 35 उत्तर प्रदेश का  सिविल अस्पताल  जयसिंहपुर में इलाज चल रहा है। वहीं प्रशासन की ओर से गंभीर रूप से घायल को 15000, 10000, 5000 और 3000 रुपए की फोरी  राहत दी गई है। वहीं घायलों को देखने के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चढियार में तहसीलदार जयसिंहपुर, नायब तहसीलदार चढियार मौके पर पहुंचकर घायलों से मिले  तथा  स्थिति का जायजा लिया, वहीं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चढियार  में 108 एंबुलेंस न होने के चलते तथा   अस्पताल से रेफर घायलों को ले जाने के लिए एंबुलेंस  लगभग डेढ़ घंटा देरी से पहुंची जिसके चलते स्थानीय लोगों में सरकार व प्रशासन के प्रति भारी रोष प्रकट किया।

You might also like