कूट परियोजना पर लगाए श्रम कानूनों की अनदेखी के आरोप

रामपुर बुशहर – रामपुर खंड में स्थित कूट परियोजना में कार्यरत मजदूरों ने झाकड़ी थाना प्रभारी को जल्द से जल्द हटाने की मांग की है। वहीं मजदूरों का आरोप है कि उन्हें मई और जून माह के वेतन की अदायगी परियोजना प्रबंधन द्वारा नहीं दी गई है। कूट हाईड्रो प्रोजेक्ट में कार्यरत शमशेर सिंह, नंद लाल, अशोक कुमार, विनोद कुमार, कृष्ण किशोर निवासी सुरू ने आरोप लगाया कि कूट हाईड्रो प्रोजेक्ट प्रबंधन श्रम कानूनों की खुल कर उल्लंघना कर रहा है। समय समय पर परियोजना प्रबंधन वर्ग से मजदूरों की समस्याओं को उठाते रहे, लेकिन कंपनी समस्याआें को हल करने के बजाय नौकरी से निकालने की धमकी देता है। उन्होंने आरोप लगाया कि झाकड़ी थाना प्रभारी अपने पद का दुरुपयोग कर परियोजना की मदद कर रहा है। मजदूरों का कहना है कि बीते 24 जुलाई को जब मजदूर परियोजना के महाप्रबंधक से मजदूरों की समस्याओं को लेकर मिलने गए। इस दौरान परियोजना के सुपरवाईजर अशीष कुमार ने शमशेर सिंह के साथ मारपीट की धक्के मारकर बाहर निकाला और वे अपने-अपने  कार्यस्थल पर  काम पर चले गए। इसके बाद शाम को इन सभी लोगों को पुलिस थाना झाकड़ी लाया गया और थाना झाकड़ी में इन पर धारा 382, 452, 323, 506 के तहत मामला दर्ज कर गिरफ्तार किया गया। उन्होंने कहा कि उन पर जो धाराएं लगाई वह तर्कहीन है। उन्होंने प्रदेश सरकार से मांग की है कि झाकड़ी थाना प्रभारी को थाना झाकड़ी से बदला जाए और निष्पक्ष अधिकारी को पुलिस थाना झाकड़ी में नियुक्त किया जाए, ताकि मजदूरों और परियोजना प्रभावितों को न्यायोचित अधिकार मिल सके।

You might also like