गगरेट में रोकी कांगड़ा के दूध की सप्लाई

धर्मशाला – मांगों को लेकर देश भर में हड़ताल कर रही ट्रक यूनियनों के आंदोलन का असर अब रोजमर्रा के सामानों पर भी दिखने लगा है। शुक्रवार को ट्रकों की हड़ताल के चलते जिला कांगड़ा में दूध तथा दुग्ध उत्पादों की सप्लाई गगरेट में ही रोक दी गई। इससे जिला कांगड़ा में दूध का संकट पैदा हो गया। पंजाब से आने वाले दूध तथा दुग्ध उत्पाद सहित अन्य सामग्री की सप्लाई नहीं पहुंच पाई है। इससे उपभोक्ताआें को भी इन रोजमर्रा के सामान को लेने में परेशानी का सामना करना पड़ा है। इतना ही नहीं, सुबह के समय दूध दुकानों में न पहुंचने के चलते दुकानदारों सहित उपभोक्ताआें को भी परेशान होना पड़ा है। देशभर में ट्रक आपरेटरों द्वारा डीजल की कीमतों में कमी, त्रैमासिक संशोधन व राष्ट्रीय स्तर पर समान मूल्य, तृतीय पक्ष बीमा प्रीमियम में जीएसटी से छूट, एजेंट कमीशन समाप्त करने व वर्ष में बढ़ाया प्रीमियम वापस लेने, कामर्शियल वाहनों पर टोल टैक्स समाप्त व कम करने, अनुबंध समय समाप्त होने पर टोल बंद करने सहित अन्य मांगों को लेकर राष्ट्र स्तर पर अनिश्चितकालीन हड़ताल की जा रही है। देश भर में ट्रकों के पहिए थमने के चलते बाहरी राज्यों से खाद्य उत्पादों को प्रदेश में पहुंचाना अब मुश्किल हो गया है । शुक्रवार को जिला कांगड़ा में पंजाब से आने वाले वेरका दूध सप्लाई करने वाले ट्रक नहीं पहुंच पाए हैं। कारोबारियों में सुशील राणा, सुभाष चंद, संजीव सिंह व संजय ने बताया कि शुक्रवार को वेरका  दूध की सप्लाई नहीं पहुंच पाई। इस दौरान पंजाब में सप्लाई न पहुंचने के बारे पता किया तो बताया गया कि सप्लाई के लिए ट्रक भेजे गए है, लेकिन उनको गगरेट में  ही रोक दिया है।

You might also like