गुरचरण मौत मामले में पंजाब के सीएम ने दिए जांच के आदेश

टाहलीवाल – हरोली विस क्षेत्र के तहत आने वाले गांव बाथू के पूर्व सैनिक गुरचरण सिंह के मौत मामले में पंजाब सरकार हरकत में आई है। मामले को कांग्रेस विधायक दल के नेता व हरोली के विधायक मुकेश अग्रिहोत्री द्वारा पंजाब के मुख्यमंत्री कै. अमरेंद्र सिंह को पत्र लिखकर उच्च स्तरीय जांच की मांग उठाई थी। पंजाब के मुख्यमंत्री कै. अमरेंद्र सिंह ने डीजीपी पंजाब को जिला ऊना के बाथू निवासी गुरचरण सिंह की मृत्यु की उच्चस्तरीय जांच करने करने के निर्देश दिए है। सीएम अमरेंद्र सिंह ने विधायक दल कांग्रेस के नेता व हरोली के विधायक मुकेश अग्निहोत्री को पत्र लिखकर इसकी जानकारी दी है। मुकेश अग्निहोत्री ने सीएम पंजाब कै. अमरेंद्र सिंह का आभार व्यक्त किया हैं। उन्होंने कहा कि जांच से सच सामने आएगा। मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि 22 मई को गुरचरण सिंह ने परिवार को सूचित किया था कि वह जालंधर से गढ़शंकर आया है और बद्दी में इंटरव्यू के लिए जा रहा है, जिसके लिए गुरचरण ने टैक्सी ली थी और इस टैक्सी चालक के साथ मारपीट होने की घटना सामने आई है। इसके बाद 27 मई को गुरचरण सिंह का शव कीरतपुर नहर से मिला। गुरचरण के शरीर पर चोट के निशान भी थे। गुरचरण सिंह के परिवार के सदस्य व बेटे विवेक सिंह ने इस मामले में पंजाब पुलिस से उच्च स्तरीय जांच का आवेदन किया है। अग्निहोत्री ने कहा कि गुरचरण मृत्यु मामले में अभी तक पुलिस ने कोई ठोस कार्रवाई नहीं की है, जिसके चलते परिजनों में रोष है। मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि मसला मेरे विधानसभा क्षेत्र का है। ऐसे में मैं परिवार से मिला हूं और इस दुख की घड़ी में पूरे परिवार के साथ खड़ा हूं। उन्होंने कहा कि जरुरत पड़ी तो मैं स्वयं इस मामले में पंजाब के सीएम व उच्च अधिकारियों से मुलाकात करुंगा।

You might also like